जब डीएम साहेब ने प्रेमी जोड़े को बदमाशों से बचाया

सुल्तानपुर. घरवालों की मर्जी के खिलाफ मनपसंद लड़के से शादी कर लेने पर मां ने लड़के के खिलाफ उनकी लड़की को भगा ले जाने समेत कई आरोपों में मुकदमा दर्ज करा दिया। अब इन आरोपों को आधार बनाकर पुलिस लड़के के न मिलने पर परिजनों को परेशान कर रही है। पुलिस की इस प्रताड़ना की जानकारी मिलने पर फर्जी केस से बचाने व सुरक्षा की मांग को लेकर लड़की अपने प्रेमी पति के साथ डीएम रवीश कुमार गुप्ता के पास पहुंच गई। डीएम ने उन दोनों को सुरक्षा दिलाने का विश्वास दिलाया।

जैसे ही लड़की अपने पति के साथ डीएम आफिस के बाहर निकली, तभी पहले से घात लगाये बैठा लड़की का भाई अपने कुछ अज्ञात साथियों के साथ उनके पास पहुंचकर धमकाने लगा। जान को खतरा महसूस होने पर लड़की अपने पति को साथ लेकर फिर सुरक्षा दिलाने के लिए डीएम के पास पहुंच गई। अपने ऑफिस के पास हुए इस दुस्साहसिक बर्ताव पर संज्ञान लेते हुए डीएम ने तत्काल पुलिस को सुरक्षा दिलाने के लिए निर्देशित किया। जिस पर पहुंची पुलिस उन्हें सुरक्षित कोतवाली नगर ले आई। कोतवाली नगर पुलिस ने कोतवाली देहात पुलिस के सुपुर्द कर दिया। जहां पर लड़की के परिजन पुलिस को हमवार बनाकर लड़की पर दबाव बनाकर लड़के के खिलाफ बयान कराने के जुगाड़ में लगे है।

मामला कोतवाली देहात थाना क्षेत्र से जुड़ा है। जहां की रहने वाली खुशबू (उम्र करीब 20 वर्ष) ने खुद की मर्जी से अपने पसंद के लड़के अभिषेक के साथ जिंदगी गुजारने का फैसला कर लिया है। बस इसी बात से नाराज उसकी मां ने बहलाकर भगा ले जाने समेत अन्य आरोपों में अभिषेक साहू उर्फ सोनू निवासी रामगंज रायपुर थाना पीपरपुर जनपद अमेठी के खिलाफ केस दर्ज करा दिया। केस की आड़ में कोतवाली देहात पुलिस अभिषेक से अलग रहने वाले उनके भाइयों को परेशान करने लगी। जिसकी जानकारी लड़की और उसके प्रेमी अभिषेक को लगी तो फर्जी केस की कार्यवाही से बचाने एवं सुरक्षा की मांग को लेकर वह दोनों डीएम के जनता दर्शन में पहुंच गए।

डीएम ने दिए आदेश:- डीएम ने पुलिस को सूचित कराकर उन्हें सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए आदेशित किया। डीएम के निर्देश पर सीताकुंड चौकी प्रभारी कमलेश यादव मौके पर पहुंचे और लड़की व उसके प्रेमी पति को कोतवाली नगर ले गये और फिर दोनों को सम्बंधित थाना कोतवाली देहात की पुलिस के सुपुर्द कर लड़की का बयान कराने एवं अन्य कार्यवाहियों के लिए भेज दिया गया।

लड़की का कहना है कि वह बालिग है और अपने मर्जी से बिना किसी जोर दबाव के अभिषेक साहू के साथ बतौर पत्नी खुशी से रह रही है, जो उसके घरवालों को मंजूर नहीं है। इसी बात की रंजिश से उसके पिता व भाई एवं उनके करीबी उन सबके जान के दुश्मन बने हैं ।



Advertisement