राजधानी में बनेगा प्रदेश का पहला मदर एंड चाइल्ड कोविड हॉस्पिटल, कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं का होगा इलाज

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में प्रदेश का पहला मदर एंड चाइल्ड कोविड हॉस्पिटल स्थापित किया जाएगा। यहां सिर्फ कोरोना संक्रमित गर्भवतियों का इलाज किया जाएगा। दरअसल, गर्भवती महिलाओं पर कोविड-19 संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है। गर्भवती महिलाओं में तेजी से कोरोना वायरस फैल भी रहा है। ऐसे में उनके लिए अलग कोविड अस्पताल बनाए जाने का निर्णय किया गया है। ये अस्पताल चिनहिट स्थित 50 बेड वाले एमसीएच विंग में बनाया जाएगा। इस अस्पताल को कोविड चिकित्सालय में तब्दील किया जाएगा।

25 डॉक्टर की टीम करेगी सेवा

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के तहत इसे चलाया जाएगा। यहां 24 घंटे अब कोरोना संक्रमित महिलाओं का सामान्य व सीजेरियन प्रसव, सामान्य शल्य चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध होगी। साथ ही इलाज व जांच की सुविधा भी मुफ्त रहेगी। यहां लगभग 25 डॉक्टरों व स्टाफ की टीम होगी, जो पीपीई किट पहनकर महिलाओं का इलाज व प्रसव कराएंगी।

गर्भवती महिलाओं के लिए आरक्षित है अस्पताल

कार्यवाहक सीएमओ डॉ एमके सिंह ने बताया कि चिनहट के एमसीएच विंग को जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमित गर्भवतियों के लिए आरक्षित कर लिया है। आगामी हफ्ते में यहां सेवाएं शुरू कर दी जाएंगी। बता दें कि अभी तक गर्भवती महिलाओं को झलकारी बाई से लेकर क्वीन मैरी व डफरिन तक का चक्कर लगाना पड़ता है। वहां सुविधाएं नहीं मिलने पर निजी अस्पतालों में जेब ढीली करनी पड़ती है। मगर यह अस्पताल शुरू होने से गर्भवती महिलाओं की मुश्किलें काफी हद तक आसान हो जाएंगी।

ये भी पढ़ें: प्राथमिक विद्यालय में बच्चे स्कूल ड्रेस और मास्क पाकर बहुत खुश हुए



Advertisement