कांग्रेस के अंदर फिर उठे ‘असंतोष’ के सुर, चिट्ठी लिखने वाले नेता संगठनात्मक बदलाव से खुश नही!

सोनिया गाँधी को 23 नेताओं ने चिट्ठी लिखी थी. जिसके बाद से उन सभी दिग्गज नेताओं पर कांग्रेस पार्टी की गा’ज़ गि’री है. इन नेताओं ने कांग्रेस के अंदर बड़े ब’द’ला’व की मांग की थी. जिसके बाद से कांग्रेस पार्टी दो फा’ड़ में बंटी नज़र आ रही है. अब सोनिया गाँधी ने बड़े पैमाने पर संगठन में बदलाव किया है. लेकिन इसके बाद भी कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेता जिन्होंने पत्र लिखा था वो इस फैसले से संतुष्ट नज़र नही आ रहे है.

हिंदुस्तान टाइम्स को एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने बताया कि ‘पार्टी में यह फेरबदल कांग्रेस नेतृत्व को लिखे गए उनके पत्र में रखी गई चिं’ता’ओं को किसी भी तरीके से संबोधित नहीं करते. उन्होंने कहा कि यह फेरबदल काफी नि’रा’शाज’न’क है और हम इससे काफी ना’खुश हैं. इसमें कांग्रेस नेतृत्व की ओर से पार्टी के पु’न’रु’द्धा’र के लिए कोई कोशिश दिखाई नहीं देती है.’

पत्र लिखने वाले नेताओं में से कुछ ने इसको नि’र’र्थ’क प्रयास बताया है. उन्होंने कहा कि इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शनिवार की मीटिंग में कई नए लोग शामिल थे. कांग्रेस पर अब ये आ’रो’प फिर से लगने लगे हैं की ये जो  सं’ग’ठ’ना’त्म’क बदलाव हुआ है उसमे राहुल गाँधी की छाप साफ नज़र आ रही हैं. इसके बावजूद भी पत्र लिखने वाले नेताओं की मांग है की कांग्रेस वर्किंग कमिटी में सदस्यों के चयन के लिए चुनाव प्रक्रिया की मांग की गई है.



Advertisement