लखनऊ पुलिस ने आप सांसद संजय सिंह को किया ईमेल, बयान दर्ज कराने के लिए दिया इतने दिन का समय

लखनऊ. AAP Rajyasabha MP Sanjay Singh: यूपी में जातिवाद का सर्वे कराकर कानूनी पेंच में फंसे आम आदमी पार्टी के सांसद और यूपी प्रभारी संजय सिंह का हजरतगंज कोतवाली में दर्ज होने वाला बयान फिलहाल टल गया है। संजय सिंह ने नोटिस मिलने के बाद राज्यसभा में यूपी सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे और विरोध दर्ज कराते हुए सभापति से इसकी लिखित शिकायत भी की थी। इसके 24 घंटे के बाद लखनऊ पुलिस की तरफ से शनिवार को ई-मेल भेजकर संजय सिंह को रविवार को आने से मना कर दिया गया है।

लखनऊ पुलिस ने भाजा ई-मेल

लखनऊ पुलिस ने ई-मेल में लिखा है कि वर्तमान में संसद सत्र चल रहा है। सत्र के दो दिन बाद अपना बयान/पक्ष रखने के लिए आप उपस्थित हो सकते हैं। लखनऊ पुलिस ने बीते गुरुवार को भेजी गई नोटिस में 20 सितंबर को 11 बजे देशद्रोह समेत कई धाराओं में दर्ज मामले में बयान दर्ज कराने के लिए कहा गया था। वहीं एक माह के अंदर इसी मामले को लेकर प्रदेश के अलग-अलग शहरों में संजय सिंह के ऊपर 13 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।

संजय सिंह ने की थी शिकायत

संजय सिंह ने मानसून सत्र में इस प्रकरण की शिकायत सभापति, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से की थी। आप पार्टी के तीन सांसदों ने तख्ती लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया था। साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की शिकायत संजय सिंह ने उपराष्ट्रपति से की थी। संजय सिंह सभापति के पास उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण हत्याओं का ब्योरा लेकर गए थे। उन्होंने प्रदेश में कोरोना किट की खरीद में घोटाले का ब्योरा सभापति को दिया। आपको बता दें कि एफआईआर दर्ज होने के बाद खुद संजय सिंह सामने आए थे। उन्होंने सर्वे की जिम्मेदारी भी ली और सीएम योगी को लेकर कहा था कि आप मुकदमे कराते रहिए मैं अपना काम करता रहूंगा।



Advertisement