Encounter in Aligarhअलीगढ़ के मंजूरगढ़ी में बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़, लूट से पहले ही तीन लुटेरे दबोचे गए

अलीगढ. यूपी पुलिस को अलीगढ़ में बड़ी कामयाबी मिली है। लूट की घटना को अंजाम देने जा रहे बदमाशों और पुलिस के बीच अलीगढ़ के क्वार्सी क्षेत्र के मंजूरीगढ़ी के जंगल के पास सोमवार की देर रात मुठभेड़ हो गई। पुलिस की जवाबी फायरिंग में दो बदमाशों को गोली लगी। दोनों घायल बदमाश समेत तीन पेशेवर लुटेरे गिरफ्तार कर लिये गए। बताया जा रहा है कि पकड़े गए लुटेरों की क्राइम हिस्ट्री काफी लम्बी है।

 

पुलिस के मुताबिक यह मुठभेड़ चेकिंग के दौरान उस वक्त हुई जब बदमाश पुलिस पर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश करने लगे। सीओ सिविल लाइंस अनिल समानियां के मुताबिक क्वार्सी इंस्पेक्टर छोटे लाल सोमवार की रात करीब 11.30 बजे अनूपशहर रोड पर एफएम टावर के पास गाड़ियों की चेकिंग करा रहे थे। इसी दौरान लूट के इरादे से जा रहे एक बाइक सवार तीन बदमाशों की सूचना मिली। पुलिस का दावा है कि जब रगरा पटवारी की ओर से आ रहे बाइक सवारों को रोकने पर वह नहीं रुके और बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी।

 

पुलिस भी जवाबी हमले के लिये तैयार थी। बदमाशों को मंजूरगढ़ी के कच्चे रास्ते के जंगल में घेरकर पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की, जिसमें दो बदमाश गोली लगने से घायल हो गए। दोनों का इलाज जिला अस्पतालमें कराया जा रहा है। इस दौरान उनके एक साथी ने भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उसका पीछा कर उसे भी दबोच लिया। घायल बदमाशों की पहचान चाहत उर्फ समीर निवासी बजरिया सराय काले खां सासनीगेट व इमरान उर्फ ठाकुर निवासी सराय मियां देहलीगेट के रूप में हुई, जबकि भागने की कोशिा करने वालाबदमाश सराय मियं देहली गेट का रहने वाला फईम बताया गया है।

 

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए तीनों अपराधी पेशेवर बदमाश हैं। इनपर विभिन्न धाराओं में कई शहरों में मुकदमे दर्ज हैं। सीओ अनिल समानियां के मुताबिक पकड़े गए लुटेरों पर अलीगढ़ कानपुर समेत कई जिलों में लूट छिनैती आदि से जुड़े 15-5 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से तीन तमंचा, कारतूस व एक बाइक बरामद की है।



Advertisement