Unlock 5: पांचवे चरण में खुल सकते हैं सभी स्कूल, जानें दशहरा, दिवाली से पहले क्या-क्या खुलने के हैं आसार

लखनऊ. देशभर में कोरोना वायरस (Covid-19) के मामले बढ़ते जा रहे हैं। एहतियात बरतने के लिए केंद्र व राज्य सरकार ने लॉकडाउन को लेकर कड़े नियम लागू किए हैं। वहीं, इस बीच बुधवार को अनलॉक 4.0 की गाइडलाइन खत्म हो रही है और अनलॉक 5 (Unlock 5) को लेकर गाइडलाइन जारी की जाएगी। अनलॉक 4.0 चरणों में अब तक मॉल, सैलून, रेस्तरां, जिम जैसी सार्वजनिक जगहें खोली जा चुकी हैं। अनलॉक चार के तहत जारी पिछली गाइडलाइंस में जिम, योगा सेंटर जैसे स्थानों को खोलने की छूट मिल गई थी। हर अनलॉक में बेहद जरूरी सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से खोले जाने की अनुमति दी गई है।

अनलॉक 5 में मिल सकती है इसमें अनुमति

अब तक सार्वजनिक जगहों पर जुलूस, सभा आदि की अनुमति नहीं दी गई है। लेकिन उम्मीद जताई गई है कि अनलॉक 5 में इसकी अनुमति दी जा सकती है। दरअसल, त्योहारों और बिहार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सार्वजनिक आयोजनों और सभाओं की अनुमति दिए जाने की उम्मीद काफी ज्यादा दिख रही है। ऐसे में सार्वजनिक आयोजनों को अनुमति मिल सकती है। हालांकि, इसमें कुछ शर्तें हो सकती हैं।

ये भी पढ़ें: बाबरी मामला: कोर्ट की तरफ़ जाने वाले सभी रास्ते बंद, अयोध्या से लेकर मथुरा तक बेहद चौकसी

स्कूल-कोचिंग को लेकर संभावनाएं

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय द्वारा आज जारी की जाने वाली चरणबद्ध पांचवें चरण की अनलॉक की प्रक्रिया में 9वीं कक्षाओं से 12वीं कक्षाओं तक के छात्रों के लिए स्कूलों को आंशिक रूप से खोले जाते रहने की बजाय पूरी तरफ खोलने की इजाजत मिल सकती है। हालांकि, इस बार भी इस पर अंतिम फैसला सम्बन्धित राज्य द्वारा ही लिये जाने का प्रावधान जारी रह सकता है। राज्य सरकारें अपने यहां महामारी की स्थिति के मूल्यांकन के आधार पर स्कूलों को खोलने/न खोलने, पूरी तरह खोलने/आंशिक रूप से खोले जाते रहने, सभी कक्षाओं के लिए खोलने/सीनियर क्लासेस के लिए ही खोलने आदि से सम्बन्धित निर्णय लेंगी। इसी तरह सिनेमा हॉल खोले जाने पर भी फैसला आ सकता है।

ये भी पढ़ें: खरीफ फसल के तहत धान खरीद को मंजूरी, ओडीओपी की ब्रण्डिंग के लिए यूपी समेत पूरे देश में खोले जाएंगे रिटेल स्टोर्स

ट्रेनों से भी उम्मीदें

अब तक रेल मंत्रालय द्वारा गिनती की स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं। कई रूट पर पर्याप्त ट्रेनें नहीं हैं और रिजर्वेशन टिकट का वेटिंग पीरियड दो से तीन महीने का है। लोगों को आवाजाही में कठिनाई भी हो रही है और कई ट्रेन टिकट का किराया भी ज्यादा है। ऐसे में अनलॉक 5 की गाइडलाइन में सबसे ज्यादा उम्मीद सभी ट्रेनें खोले जाने की है।

ये भी पढ़ें: कर्मचारी मिले कोरोना पॉजिटिव, तीन दिन के लिए बंद हुआ बैंक



Advertisement