सांसद मेनका गांधी ने 114 पशुओं की बचाई जान, लिखाई रिपोर्ट, पशु तस्करों को भिजवाया जेल

सुलतानपुर. सांसद मेनका गांधी (Maneka Gandhi) ने सुलतानपुर के अपने तीन दिवसीय दौरे से वापस लौटते समय 114 पशुओं की जान बचाई। दरअसल, रविवार देर रात डेढ़ बजे सांसद मेनका गांधी यमुना एक्सप्रेस वे पर एटीएस विल्डिंग के पास थाना क्षेत्र रबुपुरा, गौतम बुद्ध नगर पहुंची, तो देखा काफी संख्या में भैसो, भेड़, बकरियों से भरे ट्रक खुलेआम निकल रहे है।

सांसद मेनका गांधी ने 114 पशुओं की बचाई जान, लिखाई रिपोर्ट, पशु तस्करों को भिजवाया जेल

पशु तस्करों को भेजा जेल

सांसद ने इसकी सूचना नोएडा पुलिस के एडिशनल कमिश्नर को दी और सहयोगी गौरव गुप्ता पीएफए टीम के सदस्य को मौके पर आने के लिए कहा। नोएडा पुलिस ने नाकेबन्दी कराई। कुछ ही दूरी पर गौतम बुद्ध नगर के धनकौर थाने के एसएचओ ने रबुपुरा पुलिस की मदद से भेड़ बकरियों से ठूस कर भरी हुई एक ट्रक दिखी। सांसद ने ड्राइवर सहित तीन पशु तस्करों को जेल भिजवा दिया।

सांसद मेनका गांधी ने 114 पशुओं की बचाई जान, लिखाई रिपोर्ट, पशु तस्करों को भिजवाया जेल

सभी जानवरों का किया गया इलाज

रात में ही सांसद मेनका संजय गांधी ने लिखित तहरीर देकर पशुओं के प्रति क्रूरता का निवारण अधिनियम, 1960 के ट्रांसपोर्ट आफ एनीमल रूल - 97 लगाकर मुकदमा दर्ज करवाया। 24 अक्टूबर को रात 3:32 पर गौतम बुद्ध नगर के दनकौर थाने में एफआईआर दर्ज की गयी। एफआईआर नम्बर 0458 है।ट्रक में दो पार्ट में घायल व गर्भवती भेड़ - बकरियों को काटने के लिए भरा गया था। सांसद मेनका संजय गांधी व सहयोगी गौरव गुप्ता की सुपुर्दगी में क्रूरता से ठूस कर भरे गये भेड़ - बकरियों के ट्रक को दिल्ली के संजय गांधी एनिमल केअर सेन्टर भेज दिया गया जहां सभी घायल जानवरों का इलाज किया गया।

ये भी पढ़ें: झूठे आरोपों का सहारा लेकर पुरुषों को शिकार न बनाएं महिलाएं - मेनका गांधी



Advertisement