मुख्तार अंसारी का पूरा परिवार इनामी घोषित, पत्नी व दो सालों पर 25-25 हजार का इनाम

गाजीपुर. यूपी पुलिस ने बाहुबली मुख्तार अंसारी गैंग सहयोगियों और करीबियों के साथ ही परिवार पर भी शिकंजा कस दिया है। मुख्तार अंसारी का पूरा परिवार ईनामी घोषित कर दिया गया है। बेटों पर पहले ही ईनामी घोषित किये जा चुके थे। अब पत्नी व दो साले पर भी ईनाम घोषित कर दिया गया है। फिलहाल मुख्तार अंसारी पंजाब की जेल में बंद हैं, जबकि बेटों और पत्नी पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी हुई है। मुख्तार अंसारी के परिवार में उनकी पत्नी अफशां अंसारी, व दो बेटे अब्बास अंसारी और उमर अंसारी हैं। अब्बास अंसारी नेशनल शूटर होने के साथ ही बसपा नेता भी हैं, बसपा के टिकट पर 2017 में घोसी विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुके हैं।

 

मऊ से बसपा विधरायक बाहुबली मुख्तार अंसारी गैंग, आर्थिक व आपराधिक साम्राज्य को पूरी तरह से नेस्त नाबूद करने के लिये यूपी पुलिस पिछले कुछ महीनों से ताबड़तोड़ कार्रवाईयां कर रही है। अब यह कार्रवाई मुख्तार के परिवार तक पहुंच चुकी है। नेशनल शूटर बेटे अब्बास अंसारी और छोटे पुत्र उमर अंसारी के खिलाफ लखनऊ में मुकदमा दर्ज कर दोनों पर 25-25 हजार के ईनाम पहले ही घोषित किया जा चुका है। इसके बाद पुलिस ने मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी व दो सालों शरजील रजा और अनवर शहजाद पर कुर्क की जा चुकी जमीनों पर कब्जा करने व सरकारी ठेके हासिल करने के लिये फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल जैसे आरोप में मुकदमा दर्ज करते हुए उनपर गैंगस्टर एक्ट लगा दिया। अब गाजीपुर पुलिस ने पत्नी व दोनों सालों पर 25-25 हजार रुपये का ईनाम घोषित कर दिया है। हालांकि मुख्तार अंसारी को छोड़कर परिवार के सभी सदस्य अभी गिरफ्तार नहीं हुआ है।

 

गैंग के साथ परिवार पर ताबड़तोड़ कार्रवाई

यूपी पुलिस ने मुख्तार अंसारी गैंग, सहयोगियों और उनके करीबियों के साथ ही परिवार पर भी ताबड़तोड़ कार्रवाईयां की हैं। मुख्तार अंसारी के बेटों के नाम पर लखनऊ में बनी दो आलीशान इमारतों को जमींदोजकर उसकी करोड़ों की जमीन को सरकार ने अपने कब्जे में ले लिया, आरोप है कि जमीन फर्जी तरीके से कब्जा कर उसपर इमारत बनाई गई। इस मामले में दोनों बेटों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर ईनाम घोषित कर दिया गया। इसके बाद पत्नी अफशां अंसारी के नाम से गाजीपुर और मऊ में संपत्तियां ध्वस्त कर जमीन सरकारी कब्जे में ले ली गई। इतना ही नहीं पत्नी अफशां अंसारी व उनके दो भाइयों पर गाजीपुर में मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया।

 

परिवार के लाइसेंसी असलहे भी जब्त

पुलिस ने मुख्तार अंसरी गैंग के सहयोगियों, उनके करीबियो और परिवार के छह दर्जन से अधिक असलहों के लाइसेंस या तो निलंबित कर दिये हैं या फिर निरस्त कर दिये गए हैं। इन हथियारों को पुलिस ने थाने में जमा करा लिया है। अभी भी उनके परिवार के अन्य सदस्यों व करीबियों के लाइसेंसी असलहों की जांच चल रही है। अभी इसी सप्ताह मुख्तार अंसारी के बेहद करीबी कहे जाने वाले गाजीपुर के आजम सिद्दीकी के परिवार के 17 असलहों के लाइसेंस निलंबित कर उन्हें थाने में जमा करा लिया गया है।

 

कोर्ट में हाजिर नहीं होने पर घोषित हुआ ईनाम

मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी और उनके साले शरजील रजा व अनवर शहजाद के खिलाफ जमीन कब्जा और गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है। पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह ने बताया कि इस मामलों में इनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी होने के बावजूद तीनों कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। इसके बाद तीनों के खिलाफ 25-25 हजार का ईनाम घोषित कर दिया गया।

 

मुख्तार के खिलाफ भी वारंट बी

परिवार के साथ ही पुलिस बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को भी पंजाब जेल से यूपी लाकर कार्रवाई करने में जुटी हुई है। मुख्तार के खिलाफ पुलिस ने मऊ जिले की अदालत से वारंट बी भी हासिल कर लिया है। इसके बाद अब यूपी पुलिस पंजाब की एक जेल में बंद मुख्तार अंसारी को वहां से वारंट बी के जरिये यूपी लाकर पूछताछ करने और मऊ की कोर्ट में हाजिर करने की कवायद में जुटी हुई है। मुख्तार अंसारी के खिलाफ यह वारंट बी असलहा लाइसेंस के एक मामले में जारी किया गया है।



Advertisement