व्यापारी को गोलियों से भूनने वाले को पुलिस ने किया 'शूट', 50 हज़ार का था इनाम

मुज़फ्फरनगर। जनपद में मंगलवार की देर रात पुलिस और बदमाशो के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। इस मुठभेड़ के दौरान पुलिस के हत्थे थाना भोपा क्षेत्र के मोरना में मेडिकल स्टोर मालिक की गोलियों से भूनकर हत्या करने वाला 50 हजार रुपए कपिल पुत्र पवन निवासी मोरना चढ़ गया। जबकि उसका दूसरा साथी मौके का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहा। पुलिस ने घायल बदमाश के कब्जे से एक तमंचा, कारतूस व एक मोटरसाइकिल बरामद की है।

दरअसल मामला थाना भोपा क्षेत्र का है। जहां। मंगलवार की देर रात पुलिस में चेकिंग के दौरान मोरना मुजफ्फरनगर मार्ग पर ककराला राजबाहे की पटरी पर पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में दोनों और से चली गोलियों मैं गोली लगने से एक बदमाश घायल हो गया जबकि उसका दूसरा साथी मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया। पुलिस ने फरार बदमाश की तलाश में जंगलों में घंटों कांबिंग की। मगर अंधेरे का फायदा उठाकर बदमाश दूर निकल चुका था। वहीं घायल अवस्था में पकड़े गए बदमाश की पहचान कपिल पुत्र पवन कुमार निवासी गांव मोरना के रूप में हुई जो कि 50 हज़ार का इनामी बदमाश है बदमाश पवन पर 25 हज़ार का इनाम थाना भोपा से और 25 हज़ार का इनाम जनपद मेरठ के थाना दौराला क्षेत्र में एक हत्या के मामले में किया गया था।

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए बदमाश ने पिछले दिनों 17 सितम्बर को अपने 3 अन्य साथियों के साथ मिलकर गांव मोरना में एक दवा व्यापारी अनुज कर्णवाल की उस समय गोलियों से भून कर हत्या कर दी थी। जिसके चलते मुजफ्फरनगर पुलिस को अच्छी खासी जिल्लत झेलनी पड़ी थी। सपा, रालोद, बसपा व भीम आर्मी सहित कई राजनीतिक व गैर राजनीतिक दलों ने सरकार को घेरने का प्रयास किया था। जिसके बाद एसएसपी अभिषेक यादव ने तत्कालीन थाना प्रभारी को हटाकर चरथावल के थाना अध्यक्ष सूबे सिंह यादव को भोपा थाने की कमान सौंपी थी। जिसके 1 हफ्ते के अंदर ही थाना अध्यक्ष सूबे सिंह यादव ने मुठभेड़ के दौरान एक हत्यारोपी को दबोच लिया। जबकि दूसरे आरोपी अजित पुत्र हिन्दपाल ने हरियाणा के पलवल कोर्ट में सरेन्डर किया है एक अन्य अभियुक्त राहुल की पुलिस को तलाश जारी है।



Advertisement