गन पॉइंट पर कांस्टेबल ने महिला से किया रेप तो थाना इंचार्ज समेत 5 पुलिसकर्मियों पर हुई सख्त कार्रवाई

रामपुर। गन पॉइंट पर महिला के साथ रेप मामले में पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम ने कानूनी औऱ विभागगिये जांच कर आरोपी कांस्टेबल को निलंबित कर जेल भेज दिया है। आईजी रमित शर्मा जिला अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने रेप पीड़िता से बात करके गाँव में जाकर मुआयना किया। उसके बाद थाने में जाकर लापरवाही बरतने वाले थाना इंचार्ज समेत 5 पुलिसकर्मियों को लाइन हजार कर दिया। आईजी रमित शर्मा ने कहा है कि ये सभी लोग जिले से बाहर जाएंगे ताकि जांच को प्रभावित न कर सकें। रेप पीड़िता के बयान दर्ज किए हैं। जांच भी एक महिला डिप्टी एसपी को सौपीं है।

महिला के पति ने पत्रिका को बताया कि पुलिस समेत पटवाई के दबंग लोग उन्हें धमकाकर ये कह रहे हैं पांच लाख से लेकर 10 लाख रुपये फ़ैसला कर लूं नहीं तो कुछ भी हो सकता है। इस बात को सुनकर अब उन लोगों पर भी बड़ी कार्रवाई की जाने वाली है जिन्होंने महिला और उसके पति से मामले को रफा दफा करने के लिए धमकी दी है।

पति को नहीं मिलने दिया जा रहा था पीड़िता से

बता दें कि महिला के पति ने शुक्रवार सुबह पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम को फोन करके बताया कि उसे उसकी पत्नी से मिलने नहीं दिया जा रहा है। जिसको लेकर एडिशनल एसपी अस्पताल पहुंचे और उन्होंने महिला के पति से बातचीत की। उसके बाद सीओ सिटी व सीओ मिलक पहुंचे। जहां पर महिला के पति की बात सुनी गई।

इंसाफ को लेकर पीड़िता ने खा लिया था जहर

उल्लेखनीय है कि महिला ने आरोपी पुलिस कांस्टेबिल की गिरफ्तारी करने को लेकर जहर खा लिया था। जिसके बाद उसकी हालात खराब थी। लेकिन अब उसकी हालत में काफी सुधार है। महिला के पति ने कहा कि अब उन्हें खुशी है कि पुलिस वाले तंग नहीं कर रहें हैं। इससे पहले काफी तंग किया गया। मुझे धमकाया गया लेकिन अब पुलिस वाले मेरी बात को सुन रहे हैं और अब मुझको पुलिस से उम्मीद भी है।



Advertisement