भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष का भतीजा ही निकला बिजली चोर, विभाग ने एफआईआर दर्ज कर लगाया 70 लाख का जुर्माना

आजमगढ़. बिजली विभाग के निजीकरण के मामले के जनवरी माह तक मिली मोहलत के बाद बिजली विभाग एक्शन मोड में दिख रहा है। जिले में बिजली चोरी रोकने और बकाया बिल जमा कराने के लिए ताबड़तोड़ कार्रवाईयां चल रही हैं। इसी कार्रवाई के तहत विजलेंश टीम ने भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रेम प्रकाश के भतीजे आकाश राय के प्लांट पर बिजली चोरी का पर्दाफाश किया है। आकाश एक ट्यूबेल के कनेक्शन पर कई प्लांट चला रहा था। इस मामले में विभाग ने एफआईआर दर्ज कराकर 70 लाख का जुर्माना लगाया है।

भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रेम प्रकाश राय के भतीजे आकाश राय का सठियांव क्षेत्र में आकाश इंड्रस्टीज नाम से फैक्ट्री है। इसमें सीमेंटेड ईंट के निर्माण के साथ ही वाटर ट्रीटमेंट व बॉटलिंग प्लांट भी बैठाया गया है। लेकिन सब कुछ चोरी की बिजली से चलाया जा रहा था। कनेक्शन के नाम पर मात्र एक ट्यूबवेल का कनेक्शन लिया गया था। उसी कनेक्शन से बाईपास केबल लगा कर तीनों प्लांट चलाए जा रहे थे।

कुछ लोगों ने बिजली चोरी की शिकायत उच्चाधिकारियों से की थी। जिसे संज्ञान में लेते हुए विभागीय टीम ने विजलेंस के साथ छापेमारी की। यहां चोरी से बिजली का उपभोग होते मिला। मौके पर 82 किलोवाट का लोड मिला। यहां एक ट्यूबवेल का कनेक्शन लेकर चोरी की बिजली से तीन-तीन प्लांट चलाए जा रहे थे। चोरी पकड़े जाने के बाद विभाग ने मुबारकपुर थाने में आकाश के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही लोड के हिसाब से 70 लाख रूपये का जुर्माना लगाया है।

चुकी मामला सत्ताधारी दल से जुड़ा है इसलिए कार्रवाई से हड़कंप मचा है। छापेमारी के बाद कई नेता मामले को मैनेज करने की कोशिश करते नजर आये। खुद विभाग के लोग भी मामले को दबाने की कोशिश किए लेकिन बात खुलने के बाद विभाग ने एफआईआर दर्ज करा दिया।

अधिशासी अभियंता सैय्यद अब्बास रिजवी ने बताया कि विजलेंस द्वारा बिजली चोरी पकड़ी गयी है। इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही लोड के हिसाब से 70 लाख का जुर्माना लगाया गया है। बिजली चोरी को रोकने के लिए पूरे जिले में अभियान चलाया जा रहा है। यह लगातार जारी रहेगा।

BY Ran vijay singh



Advertisement