उत्तर प्रदेश में माहौल बिगाड़ने के लिए विदेश से भेजी जा रही रकम, ईडी ने पीएफआई पर गढाई निगाहें

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड (Hathras Gangrape) को लेकर जातीय संघर्ष की पटकथा लिखी जा रही है। प्रदेश सरकार का आरोप है कि हाथरस गैंगरेप के बहाने यूपी में जातीय दंगा भड़काने की कोशिश हो रही थी। इसके लिए वेबसाइट बनाकर व अन्य प्लैटफॉर्म के जरिये फंड इकट्ठा किया जा रहा था। वेबसाइट पर ये भी बताया गया कि दंगे में शामिल होने वाले आरोपी कैसे अपना बचाव करें। इतना ही नहीं हाथरस के परिवार को मदद के नाम पर फंडिंग की जा रही थी। मामला बाहर आया तो प्रवर्तन निदेशायल (ईडी) ने वेबसाइट के बार में जानकारी जुटाना शुरू कर दी। ईडी ने वेबसाइट के बारे में तकनीकी ब्योरा जुटाने के लिए संबंधित कंपनियों से संपर्क साधा है। विदेश से फंडिंग की जांच में जुटे प्रवर्तन निदेशालय के अफसरों के सीधे निशाने पर पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआइ) समेत कुछ अन्य संगठन के पदाधिकारी हैं। ईडी ने मथुरा में पकड़े गए कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया संगठन के चार सदस्यों के विरुद्ध दर्ज एफआइआर का ब्योरा जुटाया है।

पुलिस के संदेह में आए कई लोग

यूपी में हाथरस गैंगरेप को लेकर हुए प्रदर्शन, देशद्रोह व धारा 144 के उल्लंघन समेत अन्य धाराओं में आरोपितों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए हैं। सभी आरोपितों की तलाश भी शुरू हो चुकी है। पुलिस ने संदेह के दायरे में आए कई लोगों से लंबी पूछताछ भी की है। हाथरस में तेजी से बदलते घटनाक्रमों के बीच बीते दो दिनों में पुलिस ने अपनी कार्रवाई का दायरा बढ़ाया है। माहौल बिगाड़ने की साजिश को लेकर 19 मुकदमे भी दर्ज कराए गए हैं।

17 पेज के दस्तावेज में जानकारी

मंगलवार को हाथरस जा रहे कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया संगठन के कार्यकर्ता को पुलिस ने मथुरा जिले के यमुना एक्सप्रेस वे के मांट टोल पर पकड़ा। वे हाथरस में प्रदर्शन की पूरी रुपरेखा तैयार कर आए थे। उनके पास मिले 17 पेज के दस्तावेज में इसकी विस्तार से जानकारी दर्ज है। मांट थाने में एटीएस और कई अन्य खुफिया एजेंसियों ने रात भर उनसे पूछताछ की। मंगलवार दोपहर बाद चारों संदिग्धों को शांतिभंग में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि चारों के पास से हाथरस कांड में विरोध प्रदर्शन करने के कागजात मिले हैं। उन्हें जेल भेज दिया गया है।

ये भी पढ़ें: हाथरस मामला: 19 पर एफआईआर, 6 गिरफ्तार, एडीजी का बयान- पीड़ित परिवार को दिया गया 50 लाख का लालच

ये भी पढ़ें: बिजली कर्मियों की हड़ताल, ऊर्जा मंत्री, हिप्टी सीएम सहित तीन दर्जन से अधिक मंत्रियों के घर की बत्ती गुल, अभियंताओं ने नहीं उठाए फोन

ये भी पढ़ें: आर्थिक संकट से रुका रामलीला का मंचन, इस बार लाइव प्रसारित होगी अयोध्या की रामलीला, समिति ने किया भूमि पूजन



Advertisement