यूपी उपचुनाव: चंद्रशेखर आजाद बोले मेरे काफिले पर की गई फायरिंग, पुलिस ने किया इनकार

बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश की बुलंदशहर विधानसभा सीट पर तीन नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर सियासत गर्म है। इसी बीच कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कसाईवाड़ा में एआईएमआईएम प्रत्याशी दिलशाद अहमद और आजाद समाज पार्टी प्रत्याशी मोहम्मद हाजी यामीन में रविवार की देर रात मारपीट का मामला सामने आया है। दोनों पक्ष एक-दूसरे पर फायरिंग करने का आरोप लगा रहे हैं। जबकि पुलिस फायरिंग होने से इनकार किया है। भीम आर्मी प्रमुख व आसपा अध्यक्ष चंद्रशेखर ने अपने ऊपर चार राउंड फायरिंग का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं एआईएमआईएम उम्मीदवार दिलशाद अहमद ने भी अपने ऊपर हमले की एफआईआर दर्ज कराई है।

यह भी पढ़ें- मुख्य सचिव की फेसबुक आईडी हैक कर पैसे मांगने के मामले में मथुरा से तीन गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि बुलंदशहर सदर विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है। उपचुनाव में एआईएमआईएम ने दिलशाद अहमद को अपना उम्मीदवार बनाया है। बताया जा रहा है कि दिलशाद अहमद कसाईवाड़ा मोहल्ले के एक घर में बैठक कर रहे थे। इसी बीच चंद्रशेखर अपनी पार्टी के प्रत्याशी मोहम्मद हाजी यामीन समर्थकों संग मोहल्ले से गुजरे तो दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर छींटाकशी कर दी। देखते ही देखते दोनों पक्षों में मारपीट शुरू हो गई और जमकर कुर्सियां भी चलीं। इस दौरान कई समर्थकों को मामूली चोट भी लगी। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने जैसे-तैसे विवाद को शांत करा दिया।

घटना को लेकर भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने ट्वीट करते हुए दावा किया है कि बुलंदशर के चुनाव में हमारे उम्मीदवार उतारने से विपक्षी दल घबरा गए हैं। मेरी रैली ने इनकी नींद उड़ा दी है, जिसकी वजह से अभी कायरतापूर्ण तरीके से मेरे काफिले पर गोलियां चलाई गई हैं। यह इनकी हार की हताशा को दिखाता है। ये चाहते हैं कि माहौल खराब हो, लेकिन हम ऐसा नही होने देंगे।

बुलंदशहर एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच केवल मारपीट हुई है। फायरिंग की बात निराधार है। दोनों पक्षों की तरफ से तहरीर मिली है। मामले की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें- UP के बागपत में दिन निकलते ही लाेहा व्यापारी का अपहरण, एक कराेड़ फिराैती की डिमांड



Advertisement