ताे यूपी में खाकी पहनकर भी सुरक्षित नहीं महिलाएं ? महिला सिपाही ने लगाए थाना प्रभारी पर शारीरिक शाेषण के आराेप

बुलदंशहर ( bulandshar ) एक महिला सिपाही ने गुलावठी थाना प्रभारी पर शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न करने के आरोप लगाए हैं। महिला सिपाही के आरोपों के बाद एसएसपी ने पूरे मामले में जांच बैठा दी है। यह घटना पुलिस महकमे में चर्चा का विषय बनी हुई है।

यह भी पढ़ें: अदालत के फैसले से हैरान देवबन्द दारुल उलूम के माेहतमिम, बोले फैसला समझ से परे

महिला सिपाही ( mahila police ) की ओर से जाे आरोप लगाए गए हैं उनमें कहा गया है कि थाना प्रभारी ने नियुक्ति के दौरान महिला सिपाही काक शारीरिक शोषण किया था। इतना ही नहीं ट्रांसफर के बाद भी थाना प्रभारी उसे परेशान करता रहा और उसके पीछे पड़ा रहा। महिला सिपाही के अऩुसार उसकी निजी जानकारियों को भी खोजा गया। जब शाेषण का यह सिलसिला नहीं थमा ताे अब महिला सिपाही ने अपनी जुबान खाेली।

यह भी पढ़ें: हाथरस कांड के बाद भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर काे पुलिस ने थमाया नाेटिस, किए गए नजरबंद

महिला सिपाही के इन सभी आरोपों पर जांच बैठाते हुए एसएसपी ( SSP ) ने एक महिला अधिकारी के नेतृत्व में ही टीम गठित की है। यह टीम पूरे मामले की जांच करेगी और सात के दिन के भीतर अपनी रिपाेर्ट एसएसपी काे साैंपेंगी। उधर गुलावठी थाना प्रभारी ने खुद पर लगे सभी आरोपों को निराधार और बेबुनियाद बताया है। इस मामले में एसएसपी संतोष कुमार का कहना है कि महिला सिपाही की ओर से शिकायत मिली है।

यह भी पढ़ें: 2 अक्टूबर से रेलवे चला रहा दाे स्पेशल ट्रेनें

शिकायत के आधार पर महिला पुलिस के नेतृत्व में गठित की गई है। एक1 सप्ताह के अंदर यह टीम सभी आरोपों की जांच करेगी और अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। उन्हाेंने कहा कि, अगर जांच रिपोर्ट में आरोप सही पाए जाते हैं तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जांच रिपोर्ट में क्या तथ्य सामने आते हैं यह तो बाद की बात है लेकिन इस घटना ने फिलहाल पुलिस ( up police ) महकमे में महिला उत्पीड़न की पोल खोल दी है।



Advertisement