राम जन्मभूमि परिसर में जलेगी दीपोत्सव की पहली दीप

अयोध्या : राम नगरी अयोध्या इस बार 12 नवंबर से 16 नवंबर तक दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा। और इस उत्सव में श्री राम जन्मभूमि परिसर में भव्य दीपोत्सव मनाए जाने की तैयारी है इस बार भगवान श्री रामलला के अस्थाई मंदिर को भव्य दीपों से सजाया जाएगा वहीं मंदिर निर्माण स्थल पर भी बड़ी संख्या में दीप प्रज्वलित किए जाएंगे। वहीं दूसरी तरफ जिला प्रशासन दीपोत्सव के चौथे उत्सव के आयोजन की तैयारी शुरू कर दी है।

राम नगरी अयोध्या में पर होने वाले दीपोत्सव यादगार बनाए जाने की तैयारी है। उत्तर प्रदेश सरकार लगातार तीन वर्षों से दीपोत्सव का आयोजन कर रही है। अयोध्या की सरयू घाट पर भगवान श्री राम पुष्पक विमान रूपी हेलीकॉप्टर से पहुंचते हैं जहां उनका भव्य स्वागत के बाद राम कथा पार्क में राज्याभिषेक का आयोजन किया जाता है और जिसके बाद शाम ढलते ही सरयू घाट सहित राम की पैड़ी पर लाखों दीप जलाए जाने का आयोजन भी करती रही है लेकिन इस बार कोरोना के कारण इस आयोजन में कई बड़े बदलाव लिए जा रहे हैं जिसकी तैयारी शुरू कर दी है।जानकारी के मुताबिक 12 नवंबर से 16 नवंबर तक होने वाले पांच दिवसीय दीपोत्सव के आयोजन में भरतकुंड, दशरथ समाधि स्थल, मखौड़ा धाम, दंत धवन कुंड, सीता कुंड, विद्या कुंड, श्री रामजन्मभूमि, राम की पैड़ी, सरयू घाट पर अलग-अलग स्थान पर दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा। और इस बार भी साकेत महाविद्यालय से राम कथा पार्क तक रामायण के प्रसंगों पर तैयार झांकियों की शोभायात्रा निकाली जाएगी इसके साथ ही भगवान श्री राम का राज्याभिषेक भी किया जाएगा। लेकिन इस आयोजन में आम जनमानस के प्रवेश पर रोक होगी अयोध्या के इस आयोजन को लाइव टेलीकास्ट के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया जाएगा।



Advertisement