योगी सरकार के खिलाफ फूटा युवाओं का गुस्सा, कैंडल मार्च निकालकर मांगा इंसाफ

मेरठ. हाथरस में दरिंदगी का शिकार हुई बेटी के लिए सैकड़ों युवाओं ने मेरठ कॉलेज मेरठ से बच्चा पार्क चौराहे तक कैंडल मार्च निकाला। युवकों ने बेटी को श्रद्धांजलि अर्पित की। सभी युवाओं ने हाथ में कैंडल और स्लोगन लिखे बैनर लिए हुए थे। युवाओं ने कैंडल मार्च निकालकर विरोध दर्ज कराते हुए आरोपियों को जल्द फांसी दिए जाने की आवाज उठाई। मार्च में बलात्कारियों को संरक्षण देने वाली योगी सरकार मुर्दाबाद, योगी सरकार को बर्खास्त करो, दलितों पर अत्याचार बंद करो, मनुवादी भाजपा सरकार मुर्दाबाद आदि आक्रोशित नारे लगाए जा रहे थे।

यह भी पढ़ें- हाथरस के बाद अब बलरामपुर में दलित छात्रा संग हैवानियत, कमर और दोनों पैर तोड़ने का आरोप, घर पहुंचते ही मौत

मार्च का नेतृत्व किसी एक युवा के हाथ में नहीं था। इसमें सभी लोग शामिल थे। बच्चा पार्क पर हुई सभा को संबोधित करते हुए युवाओं ने बर्बर घटना की घोर निन्दा करते कहा कि योगी सरकार में महिलाओं और बच्चियों पर जुल्म हो रहे हैं। सरकार का दावा है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बिल्कुल दुरुस्त है। जबकि यूपी जंगलराज का पर्याय बन चुका है। यहां अपराधी बेखौफ हैं, उन्हें राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है। हाथरस के मामले में भी वहां के पुलिस अधिकारी मीडिया के सामने बयान दे रहे हैं कि युवती के साथ बलात्कार नहीं हुआ था जो बेहद शर्मनाक है।

इसमें मेरठ कॉलेज मेरठ के वरिष्ठ छात्र नेता अनुज जावला, चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय आदित्य पवार, विजय सिंह राणा के अलावा अन्य युवा मौजूद थे। इसके अलावा महानगर में अन्य कई जगहों पर भी इस तरह के कैंडल मार्च निकाले गए, जिसमें हाथरस में हुई घटना के खिलाफ लोगों ने आक्रोश जताया।

यह भी पढ़ें- हाथरस की बेटी से दरिंदगी के विरोध में सफाई व्यवस्था पूरी तरह ठप, जगह-जगह लगे गंदगी के ढेर



Advertisement