यूपी के किसानों के लिए अच्छी खबर, फसल बेचने के लिए नहीं भटकना होगा इधर-उधर, अनाज भंडारण के लिए बनेंगे पांच हजार गोदाम

लखनऊ. राज्य सरकार किसानों को उनकी फसल की अच्छी कीमत दिलाने के लिए पांच हजार भंडारण गोदाम बनाएगी। इससे प्रदेश के किसानों को फसल बेचने के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। दरअसल, कई बार उपज कराब होने की वजह से किसानों को मजबूरन काफी कम कीमत में अपनी फसल बेचनी पड़ती है। व्यापारियों और आढ़ती किसानों की इस मजबूरी को समझते हुए प्रदेश सरकार ने भंडारण गोदाम खोलने की योजना तैयार की है। इसके तहत पहले चरण में हर 10 गांव में गोदाम बनाए जाएंगे। इस पर करीब 2500 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

किसानों के लिए खुलेगी आय की राह

अपर मुख्य सचिव सहकारिता एमवीएस रामीरेड्डी के मुताबिक, भंडारण गोदाम किसानों की आय बढ़ाने के साथ-साथ अन्य युवाओं के लिए रोजगार की राह खोलेंगे। इन गोदामों में किसान खरीदे जाने वाले अनाज के साथ ही अपना अनाज भी रख सकेंगे।गोदामों के बनने से भंडारण क्षमता में 8.6 लाख मीट्रिक टन बढ़ जाएगी।

छोटे किसानों को लाभ

भंडारण गोदाम किसानों की आय बढ़ाने की दिशा में कारगर कदम माना जा रहा है। इसका सबसे ज्यादा फायदा छोटे और मंझोले किसानों को होगा। कृषि उत्पादन आयुक्त ने बैठक कर प्रस्ताव को फाइनल करने के निर्देश सहकारिता विभाग के अधिकारियों को दिए हैं। प्रस्ताव तैयार कर केंद्र सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा। भंडारण की सुविधा मिलने के बाद किसान अपने उत्पाद को घर के पास सुरक्षित रख सकेंगे और बेहतर कीमत मिलने पर बाजार में बेच भी सकेंगे।

ये भी पढ़ें: बिजली की तरह अब घरों में लगेंगे पानी के मीटर, हर लीटर का देना होगा हिसाब



Advertisement