कारोबारी अमन बैंसला को इंसाफ दिलाने के लिए एकजुट हुआ गुर्जर समाज, घंटों तक डीएनडी किया जाम

नोेएडा। दिल्ली के कारोबारी अमन बैंसला को इंसाफ दिलाने के लिए उनके परिजनों और स्थानीय लोगों ने दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाले डीएनडी फ्लाईवे पर एकत्रित होकर जमकर हंगामा किया। दरअसल, अमन बैंसला ने पिछले दिनों आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या से पहले अमन ने अपनी पूर्व साझीदार युवती और एक सिंगर पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। जिसके चलते गुर्जर समुदाय के युवाओं के डीएनडी टोल प्लाजा पर प्रदर्शन से डीएनडी टोल प्लाजा करीब पांच घंटे के लिए बंद रहा। इससे दिल्ली आने-जाने वाले वाहनों चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। दिल्ली पुलिस के जॉइंट कमिश्नर मृतक के परिवार की मांग पर अब केस क्राइम ब्रांच को सौंप दिया। इसके बाद प्रदर्शन को समाप्त कर दिया गया।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, बुलदंशहर, हापुड़, हरियाणा, दिल्ली से हजारों की संख्या में गुर्जर समुदाय के युवा वाहनों के साथ सुबह साढ़े 10 बजे से डीएनडी टोल प्लाजा पर पहुंचे और प्रदर्शन शुरू किया। पोस्टर बैनर लेकर अमन बैंसला को इंसाफ दिलाने व आरोपितों की गिरफ्तार की मांग की।अमन बैसला की मां ने बताया कि एक लड़की कुछ लड़कों के साथ मिलकर मेरे बेटे को ब्लैकमेल और टॉर्चर कर रही थी। उसने कई बार पैसे भी वसूले जिसकी वजह से मेरे बेटे ने आत्महत्या कर ली। मैं अपने बेटे के लिए न्याय की मांग करती हूं।

लोगों के हंगामे के चलते डीएनडी फ्लाईवे पर बैरिकेडिंग कर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। पुलिस के अधिकारी प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाकर शांत कराने की कोशिश कर रहे हैं। इस हंगामे के चलते डीएनडी पर काफी देर तक यातायात भी प्रभावित रहा सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे दिल्ली पुलिस के जॉइंट कमिश्नर देवेश श्रीवास्तव ने कहा कि मृतक के परिवार की मांग पर अब केस क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है। क्राइम ब्रांच व्यवसायी अमन बैंसला की आत्महत्या के मामले की जांच कर रही है। परिवार को भरोसा दिलाया गया है कि वो जो भी कहना चाहते हैं क्राइम ब्रांच से कह सकते हैं। इस मामले की गंभीरतापूर्वक जल्द से जल्द जांच की जाएगी।

खुदकुशी करने वाले कारोबारी अमन बैंसला परिवर के साथ रोहिणी सेक्टर-11 में रहते थे। वह होटलों में दैनिक उपयोग के सामानों साबुन, शैंपू और तोलिया जैसे सामानों आपूर्ति करने का व्यवसाय करते थे। वर्ष 2018 में उन्होंने इस युवती के साथ मिलकर काम शुरू किया था, लेकिन एक साल पूर्व ही युवती इनसे अलग हो गई थी। लड़की कुछ लड़कों के साथ मिलकर मेरे बेटे को ब्लैकमेल और टॉर्चर कर रही थी। उसने कई बार पैसे भी वसूले। पैसे हड़पने और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगा अमन बैंसला29 सितंबर को अपने दफ्तर ऑफिस खुदकुशी कर ली थी।



Advertisement