बलिया हत्याकांड में आरोपियों की ओर से भी दर्ज होगा एफआईआर, कोर्ट ने दिया आदेश

बलिया. यूपी के बलिया जिले में रेवती थानांतर्गत दुर्जनपुर में कोटे की दुकान आवंटन के लिये आयोजित खुली पंचायत में हुए हत्याकांड के मामले में आरोपी पक्ष की ओर से भी एफआईआर दर्ज की जाएगी। कोर्ट ने मुख्य आरोपी धीरेन्द्र प्रताप सिंह की ओर से रेवती थाने की पुलिस को ग्राम प्रधान समेत 21 नामजद और 25 से 30 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। यह आदेश कोर्ट ने धीरेन्द्र प्रताप सिंह की भाभी की अपील पर सुनवाई के बाद दिया। धीरेन्द्र प्रताप सिंह के भाई आरोपी नरेन्द्र प्रताप सिंह की पत्नी आशा प्रताप सिंह ने सिविल जज जूनियर डिविजन चतुर्थ/न्यायिक मजिस्ट्रेट अविनाश कुमार मिश्र की अदालत में वाद दाखिल कर मुकदमा दर्ज करने की मांग की थी। इसपर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को कोर्ट ने मुकदमा दर्ज कर जांच का आदेश दे दिया।

 

पीड़ित ने अपने प्रार्थना पत्र में दुर्जनपुर की पंचायत में हुई घटना में दूसरे पक्ष पर पुरानी रंजिश को लेकर मारपीट की नीयत से घात लगाए बैठे होने का दावा करते हुए प्रधान समेत 21 नामजद और 25 से 30 अज्ञात पर गोलबंद होकर हमला करने का आरोप लगाया है। उनके मुताबिक इस घटना में खुद वह और उनकी जेठानी गंभीर रूप से घायल हुए और बेहोश होकर गिर गईं। उन्होंने दूसरे पक्ष पर असलहे से अंधाधुन फायरिंग, लाठी डंडे और राॅड से हमला और धर्मेंद्र सिंह की गंभीर रूप से पिटाई का आरोप लगाया है, जिनका बनारस में इलाज चल रहा है।

By Amit Kumar



Advertisement