हाथरस कांड को लेकर मौन सत्याग्रह में सपा नेत्री बोलीं "बीजेपी भगाओ बेटी बचाओ का नारा" होना चाहिए

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर देहात-गांधी जयंती के अवसर पर यूपी के जनपद कानपुर देहात में आज सपाइयों ने गांधी प्रतिमा के समक्ष बैठकर मौन सत्याग्रह कर प्रदर्शन किया। मौन सत्याग्रह कर यूपी सरकार को घेर रहे सपाईयों ने योगी सरकार से लेकर पीएम मोदी पर भी जमकर हमला बोला। अकबरपुर स्थित गांधी पार्क में गांधी जयंती के अवसर पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अनोखा प्रदर्शन किया। गांधी जयंती पर गांधीगिरी दिखाते हुए गांधी प्रतिमा के समीप मौन प्रदर्शन किया। वर्तमान समय में सरकार की नीतियों के खिलाफ और सूबे में बेटियों के साथ हो रहे बलात्कार व हत्या के मामले सहित अन्य कई मुद्दों को लेकर प्रदर्शन किया।

सैकड़ो कार्यकर्ताओं के साथ सपा के वरिष्ठ नेताओ ने मौजूद रहकर मौन सत्याग्रह कर सरकार को घेरने का काम कर रहे हैं। हाथरस घटना को लेकर सपाईयों ने सूबे के मुखिया के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बोलते हुए कहा कि हाथरस की घटना से सारे देश में उबाल है, लेकिन सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पूरी घटना और पीड़ित बेटी की रात में चिता जलाने के बाद भी मामले में कोई सख्त कार्यवाही नही की। इस पर जितनी निंदा की जाए वो कम है। इस मौन प्रदर्शन के बाद भी अगर सरकार नही जागी तो समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता लाठी भी खाने को तैयार हैं। सिर्फ प्रदेश अध्यक्ष के दिशा निर्देशन की देरी है।

वहीं सपा की महिला नेताओं ने पीएम मोदी से लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तीखा हमला बोला। महिला नेताओं ने तंज कसते हुए कहा कि पीएम मोदी ने अपनी पत्नी के साथ इंसाफ नहीं किया तो देश की अन्य बेटी के साथ क्या इंसाफ करेंगे। सीएम योगी पर भी सपा नेत्रियों ने हमला बोलते हुए कहा कि यदि ऐसी घटना उनके परिवार के सदस्यों के साथ होती हो क्या सीएम योगी ऐसा ही कार्य करवाते। अब तो यही रह गया है कि बीजेपी के बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ के नारे के विपरीत बीजेपी भगाओ बेटी बचाओ के नारा होना चाहिए।



Advertisement