नीट टॉपर आकांक्षा सिंह को सीएम योगी ने किया सम्मानित, पढ़ाई का खर्च उठाएगी योगी सरकार

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा और सम्मान में शुरू किए गए मिशन शक्ति अभियान के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट में टॉप करने वाली आकांक्षा सिंह को सम्मानित किया है। उन्होंने आकांक्षा को अपने सरकारी आवास पर सम्मानित किया। प्रदेश सरकार ने आकांक्षा की पढ़ाई का पूरा खर्च उठाने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही गंव की एक सड़क आकांक्षा के नाम बनवाने का भी निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर इस उपलब्धि के लिए आकांक्षा सिंह और उनके पूरे परिवार को बधाई देते हुए कहा कि ऊंचे इरादे, परिश्रम और निष्ठा के साथ लक्ष्य को पाया जा सकता है, इसे आकांक्षा ने सिद्ध कर दिया है। आकांक्षा बालिकाओं के लिए रोल मॉडल हैं और उन परिवारों के लिए भी जो बालिकाओं को पढ़ाने में कोताही बरतते हैं।

कठिनाइयों को मौका समझ कर करें मुकाबला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के दौरान कुशीनगर निवासी आकांक्षा सिंह ने कहा कि यह पल जीवन का सपना पूरा होने जैसा है। उन्होंने कहा कि हमेशा अपने सपनों और इरादों को ऊंचा रखिए। इनको हासिल करने में आ रही कठिनाइयों को मौका समझिए। आकांक्षा ने कहा कि यूपी में शुरू किए गए मिशन शक्ति से बहुत प्रेरणा मिली है। उन्होंने नारी सशक्तीकरण को लेकर शुरू किए गए इस अभियान के लिए सीएम योगी को धन्यवाद दिया।

सरकार उठाएगी पढ़ाई का खर्च

आकांक्षा की उपलब्धि पर उसे सम्मानित करने के साथ ही मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव आरके तिवारी को निर्देश दिया कि छात्रा की यूजी कोर्स की पूरी फीस और हॉस्टल के खर्चे का विवरण परिवार से लकर उसका एक मुश्त भुगतान किया जाए। मुख्यमंत्री ने आकांक्षा और उनके भाई को एक-एक टैबलेट देकर सम्मानित किया।

ये भी पढ़ें: यूपी के किसानों के लिए अच्छी खबर, फसल बेचने के लिए नहीं भटकना होगा इधर-उधर, अनाज भंडारण के लिए बनेंगे पांच हजार गोदाम



Advertisement