सावधान! ब्रांडेड के नाम पर कहीं आप भी तो नहीं पी रहे नकली शराब

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

ग्रेटर नोएडा। आबकारी विभाग ने थाना सूरजपुर पुलिस के साथ मिल कर देवला गांव में छापा मारकर अवैध शराब बनाने और पैकेजिंग करने की फैक्ट्री पकड़ी है। अभियान में विभाग ने 12 पेटी नकली क्यूआर कोड लगी शराब, 4500 नकली क्यूआर कोड, 860 ढक्कन समेत कई खाली बोतलें बरामद की हैं। साथ ही बोतल में शराब पैक करने की मशीन भी पकड़ी गई है। दरअसल ब्रांडेड कंपनी की बोतलों में हरियाणा की अवैध शराब भरकर बेचने वाले एक शातिर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। लोगों को चकमा देने के लिए अवैध काम करने वाले शातिर असली बोतलों में नकली क्यूआर कोड लगा देते थे।

आबकारी विभाग कि टीम को सूचना मिली थी कि कुछ लोग शराब की दुकानों व कबाड़ी से ब्रांडेड शराब की खाली बोतल पांच रुपये में खरीदते हैं। विभाग को शक हुआ कि शराब का अवैध काम हो रहा है। सूचना के आधार पर विभाग की टीम सतर्क हो गई और बोतल खरीदने वाले का पीछा करते हुए टीम उनके ठिकाने देवला गांव पहुंच गई। टीम ने बहुत होशियारी से शातिर आरोपी शालू को गिरफ्तार कर लिया। दो अभियुक्त विजय व राजेश फरार हो गए। टीम ने मौके से 12 पेटी नकली क्यूआर कोड लगी मिस इंडिया शराब, 4500 नकली क्यूआर कोड, 860 वेब लिखे ढक्कन समेत कई खाली बोतलें बरामद की है। गिरफ्तार शालू व फरार विजय भाई हैं। दोनों पिछले लंबे समय से शराब के अवैध काम में संलिप्त रहे हैं।

जिला आबकारी अधिकारी राकेश बहादुर सिंह बताया कि वह हरियाणा से अवैध शराब लाते थे। शराब को ब्रांडेड बोतल में भर देते थे। क्यूआर कोड लगाने के बाद बोतल को सील कर देते थे। इसके बाद उसे बेच देते थे। आरोपित पिछले लगभग छह माह से अवैध धंधा संचालित कर रहे थे। विभाग की टीम फरार आरोपित व शराब की तस्करी करने वालों की तलाश में जुटी है।



Advertisement