विवादित ढांचे पर कोर्ट का फैसला आने के बाद इकबाल अंसारी ने मुस्लिम समुदाय से ये बड़ी अपील !

अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया था. काफी इंतजार के बाद मंदिर के पक्ष में फैसला आया जिसके बाद अब मंदिर के निर्माण की नींव भी रखी जा चुकी है और निर्माण कार्य शुरू हो गया है. वहीँ 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में वि’वा’दित ढां’चा ढहा’ए जाने के मामले में 28 साल बाद विशेष कोर्ट का फै’सला आ गया है.

जानकारी के लिए बता दें 28 साल बाद जज सुरेंद्र कुमार यादव की विशेष अदालत ने वि’वादि’त ढां’चा ढ’हाए जाने में अपना फैसला सुनाया है. जज ने अपने फैसले में कहा है कि यह वि’ध्वं’श पूर्व नि’योजित नहीं था बल्कि आ’कस्मि’क घ’टना थी. जिसके चलते विशेष अदालत ने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और कल्याण सिंह समेत सभी अ’भियु’क्तों को ब’री कर दिया है.

सीबीआई की स्पेशल को’र्ट से फै’सला आने के बाद अब देशभर के लोग अपनी अपनी प्र’तिक्रि’या दे रहे हैं. इसी बीच बा’बरी म’स्जिद के पूर्व प’क्षकार इकबाल अंसारी ने भी अपनी प्र’तिक्रिया देते हुए को’र्ट के फै’सले का सम्मान किया है और कहा है कि अब सभी बुजु’र्ग चै’न से जी सकेंगे. इसी के साथ उन्होंने मु’स्लिम स’मुदा’य से भी अ’पील की है.

इकबाल अंसारी ने कहा है कि सुप्रीम को’र्ट ने 9 नवंबर 2019 को अपना फै’सला सुनाया था जिसका सभी ने सम्मान किया क्योंकि कोर्ट सा’क्ष्य और त’थ्यों के आधा’र पर फैस’ला सुनाती है. जिसपर हमें भरोसा है. उन्होंने कहा सीबीआई ने सैंक’ड़ों लो’गों की ग’वा’ही ली जिसमें पत्र’कार भी शा’मिल थे जिसके बाद ये फैसला लिया गया है. उन्होंने कहा है कि अच्छी बात है कि सभी को ब’री कर दिया गया है. पिछले साल 9 नवम्बर को ही ये माम’ला ख’त्म हो जा’ना चाहिए था लेकिन ये सीबीआई का मु’कद’मा था जोकि आज ख’त्म हो गया. उन्होंने कहा है कि हम मु’सलमा’नों से अपी’ल करते हैं कि वह अब इस मा’मले को आगे न ले जाएं. जैसे 9 नवंबर को हुए फैस’ले का स्वागत किया गया था वैसे ही इसका भी करें.



Advertisement