मर्डर केस के मुख्य गवाह की सड़क हादसे में मौत, परिजन बोले- गवाही देने से रोकने को कर दी गई हत्या

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

ग्रेटर नोएडा। दादरी थाना क्षेत्र के कोट गांव के पास गंग नहर पुल पर बुधवार देर रात दो कारों की भिड़ंत में एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि दूसरे कार का ड्राइवर गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे ग्रेटर नोएडा के अल्फा टू में स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों कारों की भिड़ंत के चपेट में एक बाइक सवार भी आ गया। उसे भी घायल अवस्था में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। वहीं दुर्घटना के बाद सड़क पर जाम लग गया। जिसे पुलिस ने आकर खुलवाया। इस बीच मृतक के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि यह दुर्घटना नहीं है, बल्कि साजिशन की गई हत्या है। जिसे हादसे का रूप दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दरअसल, कोट गांव के पास गंग नहर पुल पर देर रात स्विफ्ट कार और विटारा ब्रेजा कार के हुई भिड़ंत कितनी जोरदार थी उसका अंदाजा कारों की हालत को देख कर लगाया जा सकता है। दोनों कारों की भिड़ंत के चपेट में एक बाइक सवार भी आकर घायल हो गया। स्विफ्ट कार में सवार उमेश भाटी गंभीर रूप से घायल हो गया सूचना पाकर मौके पर पहुंची। पुलिस ने घायल युवक को एंबुलेंस की मदद से दादरी के सरकारी अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं ब्रेजा कार चालक मनोज उर्फ मीनू पुत्र घायल हो गया। जिसका इलाज आस्था हॉस्पिटल एल्फा-2 में चल रहा है। वहीं घायल बाइक सवार को उसके परिजन उपचार हेतु अस्पताल ले गये।

इस बीच सारे मामले में उस समय नया मोड आ गया जब कार सवार मृतक उमेश के भाई ने मौत को हादसा नहीं हत्या बताया। परिवार वालों का आरोप है कि हादसे में मृत युवक अपने भतीजे मोहित के हुए मर्डर के मामले में मुख्य गवाह था और उसको केस में गवाही ना देने की धमकी दी जा रही थी। पूर्व में हत्याकांड में जेल गए स्थानीय विधायक के भांजे पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं। परिवार वालों का आरोप है कि हत्या को हादसे का रूप दिया गया है। हालांकि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है और मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।



Advertisement