यूपी में भ्रष्ट अफसरों और कर्मचारियों की खैर नहीं, डरें नहीं इस हेल्पलाइन नंबर पर सीधे करें शिकायत

लखनऊ. अब यूपी में भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार पर नकेल कसने की मुहिम छेड़ दी है। सीएम योगी ने जीरो टॉलरेंस नीति के तहत भ्रष्ट अफसरों व कर्मियों के खिलाफ अभियान चलाकर दोषी पाने पर कार्रवाई के कड़े निर्देश दिए हैं। अगर सरकारी दफ्तरों और कहीं भी कोई भ्रष्ट अधिकारी और कर्मी परेशान कर रहा है तो सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं, जहां पर सीधे शिकायत करने के बाद आरोपी पर कार्रवाई तय है।

हेल्पलाइन नंबर जारी :- भ्रष्टाचार के खिलाफ यूपी सरकार ने एक नई पहल की शुरुआत करते हुए 27 अक्टूबर से सतर्कता जागरूकता सप्ताह चलाने का ऐलान किया है। यह जागरूकता अभियान 2 नवंबर तक चलेगा। इस अभियान के जरिए यूपी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। यूपी सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी किये हैं। इन हेल्पलाइन नंबर पर कोई भी भ्रष्टाचार की शिकायत कर सकेगा। यूपी के सरकारी कार्यालयों में भ्रष्टाचार की शिकायत हेल्पलाइन नंबर 9454401866 पर किया जा सकता है। साथ ही कंट्रोल रूम के नंबर 0522- 2304937 पर कॉल कर शिकायत दर्ज की जा सकती हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर भ्रष्टाचार के खिलाफ सतर्कता जागरूकता सप्ताह अभियान की जानकारी दी है। ट्वीट पर लिखा है, “भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज बनें. भ्रष्टाचार की शिकायत के लिए तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें।"

सीएम योगी की भ्रष्टाचार पर तीखी नजर :- सीएम योगी के करीब साढ़े तीन वर्ष के कार्यकाल में भ्रष्टाचार पर अंकुश के लिए अलग-अलग विभागों के 325 अफसर व कर्मियों को जबरन रिटायर किया जा चुका है। इसके साथ 450 अधिकारियों और कर्मचारियों पर निलंबन और डिमोशन की कार्रवाई की गई है। बीते वर्ष नवंबर में योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार करते हुए प्रांतीय पुलिस सेवा (पीपीएस) अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए प्रांतीय पुलिस सेवा (पीपीएस) के सात अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्त थी।



Advertisement