छापेमारी करने गई विद्युत विभाग की टीम पर पथराव, एसडीओ समेत कई कर्मचारी घायल

मेरठ. लाइन लॉस रोकने के लिए अलीपुर गांव में शुक्रवार सुबह छापेमारी करने गई विद्युत विभाग की टीम पर ग्रामीणों ने घेरकर चारों ओर से पथराव कर दिया। इस दौरान टीम के अधिकारियों और कर्मचारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। इस हमले में एसडीओ समेत कई कर्मचारी घायल हो गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विद्युत विभाग के अधिकारियों ने थाने पहुंचकर मारपीट करने वालों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। एसडीओ महावीर सिंह ने थाने में ग्राम प्रधान के दो भाई और बहनोई पर मारपीट का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही है।

यह भी पढ़ें- 6 महीने बाद इन बदलावों के साथ फिर खुले मल्टीप्लेक्स, कोरोना से बचाव के साथ ले उठा सकेंगे सिनेमा का लुत्फ

दरअसल, घटना थाना खरखौदा क्षेत्र के गांव अलीपुर की है। पीवीवीएनएल के एमडी के आदेश पर पूरे जिले में लाइन लॉस रोकने के लिए बड़े स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में शुक्रवार सुबह अधिशासी अभियंता प्रथम नीरज सक्सेना के नेतृत्व में विद्युत विभाग की टीम एसडीओ महावीर सिंह समेत अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ गांव अलीपुर पहुंची थी। जहां लोगों ने बिजली विभाग की कार्रवाई का विरोध करते हुए टीम को चारों ओर से घेरकर मारपीट करते हुए पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान एसडीओ महावीर सिंह के कपड़े फट गए और उनको काफी चोंटे आई हैं। उनके साथ संविदा कर्मी राजकुमार समेत कई अन्‍य कर्मी भी घायल हुए हैं।

घटना के बाद ऊर्जा निगम के अधिशासी अभियंता नीरज सक्सेना के नेतृत्व में लोग थाने पहुंचे और आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। वहीं ऊर्जा निगम के कर्मचारियों ने कार्रवाई नहीं होने पर हड़ताल करने की चेतावनी भी दी है। प्रभारी निरीक्षक अरविंद मोहन शर्मा का कहना है कि मामले में जल्द रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही हैं और इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। घटना को लेकर ऊर्जा विभाग के कर्मचारियों में आक्रोश है।

यह भी पढ़ें- हाथरस केस: मामले का कथित चश्मदीद आया सामने, बोला- खेत में पीड़िता के साथ मौजूद थे ये लोग



Advertisement