पुलिसकर्मियों ने पीड़ित महिलाओं से किया अभद्र व्यवहार, लाठी-डंडों से मारपीट का आरोप

ललितपुर. गांव में दो पक्षों के बीच निर्माण को लेकर जमीनी विवाद उत्पन्न हो गया, जिसके चलते दबंग आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों ने दूसरे पक्ष की महिलाओं के साथ गाली-गलौज कर लाठी-डंडों से मारपीट कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों ही पक्षों में समझौता कराने की कोशिश की और जब समझौता नहीं हुआ तो पुलिसकर्मी उग्र हो गए और उग्रता में पीड़ित पक्ष की ही महिलाओं के साथ गाली गलौज करने लगे। इस पर पीड़ित महिलाओं ने डीएम एसपी को शिकायती पत्र देकर मामले में कार्रवाई की मांग उठाई है।

मामला थाना जाखलौन के अंतर्गत ग्राम दाउनी का है। गांव दावनी निवासी भागवती ने डीएम और एसपी को संयुक्त रूप से दिए गए शिकायती पत्र में बताया कि उसकी भूमि आरजी संख्या 1430 पर उसके विपक्षी अजय, मनोज दुबे, संतोष दुबे. प्रवीण आदि एक राय होकर जबरन कब्जा करने की कोशिश कर रहे थे। जब उसने और उसके परिजनों ने उन्हें उस जमीन पर कब्जा करने से रोका तो सभी ने जमकर गाली गलौज की। विरोध करने पर जमकर लाठी-डंडों से मारपीट भी की। दिए गए शिकायती पत्र में यह भी बताया गया है कि विपक्षी गण दबंग प्रवृत्ति के आपराधिक किस्म के व्यक्ति हैं जिनमें से कुछ तो संगीन आपराधिक मामलों में जिला बदर भी रह चुके हैं। उक्त सभी दबंग रंजिश रखते हुए महिलाओं के साथ अभद्रता कर आते जाते छेड़छाड़ भी करते हैं। अभद्रता करने गाली-गलौज और मारपीट की शिकायत जब थाना जाखलौन पुलिस से की गई, तो पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन विपक्षियों से मिलकर पीड़ित पक्ष पर ही मामले में राजीनामा करने का दबाव बनाने लगी।

महिलाओं ने अभद्र व्यवहार का लगाया आरोप

इस मामले में पीड़ित पक्ष की महिला दीपा दुबे ने बताया कि हमारी पुश्तैनी जमीन पर हमारे विपक्षी गण जबरन कब्जा करने की कोशिश कर रहे थे। आरोपियों में मंजू दुबे नामक व्यक्ति गुंडा किस्म का आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है जो कई मामलों में पहले जिला बदर भी रह चुका है। वह और उसके साथ ही जबरन जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे थे सभी ने हम लोगों के साथ मारपीट की। इतना ही नहीं हमारा मंगलसूत्र छीन लिया और कानों में पहने गहने भी जबरन छीन लिए। जब हमने थाने में शिकायत की तो पुलिसकर्मियों ने आकर उल्टा हम लोगों के साथ ही अभद्रता कर गाली गलौज की जिसके बाद हम डीएम एसपी के पास शिकायत करने आए हैं। इस मामले में पुलिस अधीक्षक का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। मामले की जांच कराई जाएगी और यदि पुलिस कर्मियों का अभद्रता करने का मामला साबित हुआ तो उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

ये भी पढ़ें: खेत मे शौच करने पर उपजे विवाद में गांव के लोगों ने कुल्हाड़ी दलित पर हमला कर काटा कान



Advertisement