योगी सरकार ने गेहूं खरीद मामले में इस बार रिकार्ड बनाया : कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही

सुलतानपुर. कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहाकि, उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने गेहूं खरीद के मामले में रिकार्ड बनाया है। अब तक 23.20 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद से प्रदेशभर के करीब पांच लाख किसान सीधे लाभान्वित हुए हैं। यूपी सरकार किसानों की फसल की कीमत का करीब साढ़े तीन हजार करोड़ रुपए सीधे उनके खाते में भेज चुकी है। जबकि सपा की सरकार में मात्र सात लाख नब्बे हजार मीट्रिक टन गेहूं की ही खरीद की गई थी, जिस के भुगतान के लिए किसानों को वर्षों तक भटकना पड़ा था।

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने शनिवार को सुल्तानपुर जनपद के सुदूरवर्ती इलाके बरासिन में 4.59 करोड़ रुपए की लागत से प्रदेश के सबसे अधिक सुविधाओं वाले कृषि विज्ञान केंद्र-द्वितीय के प्रशासनिक भवन का शिलान्यास किया। कृषि मंत्री सूर्यप्रताप ने इस अवसर पर उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार बनने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के 86 लाख किसानों का एक लाख रुपए तक के कुल 36 हजार करोड़ रुपए कर्ज माफ कर संदेश दिया था कि बीजेपी सरकार किसान हितैषी सरकार है।

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने आगे कहा कि कृषि बिल को लेकर विपक्षी दल किसानों को भ्रमित करने का कार्य कर रहे हैं, इससे किसानों को सतर्क रहना होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के कार्यकाल में किसानों का सर्वाधिक हित हुआ है। उन्होंने कहा कि एक राष्ट्र एक बाजार की नीति से 2022 तक किसानों की आय हर हाल में दोगुनी हो जाएगी। कृषि मंत्री ने कहा कि यूपीए की सरकार में देश में 2.66 लाख किसानों ने आत्महत्या किया था। उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास विकास का मुद्दा न होने के कारण वह किसानों को भ्रमित कर रहा है जबकि यूपीए सरकार में कृषि बजट मात्र 2000 करोड़ रुपए था इसे मोदी सरकार ने बढ़ाकर 1 लाख 34 हजार करोड़ रुपए किया है।



Advertisement