पैर में माेच आने पर युवती ने रेलमंत्रालय काे किया ट्वीट ताे ट्रेन से पहले पहुंचे डॉक्टर

पत्रिका न्यूज नेटवर्क, मुरादाबाद। दिल्ली से चली हमसफर एक्सप्रेस में सफर कर रही एक युवती के पैर में मोच आ गई। चलती ट्रेन में उपचार नहीं मिला तो युवती ने रेल मंत्रालय को ट्वीट कर दिया। इसके बाद आनन-फानन में ट्रेन की लाइव लाेकेशन ट्रैस की गई और अगले स्टेशन पर उपचार दिलाये जाने की व्यवस्था रेल मंत्रायल की ओर से की गई। इसके लिए ट्रेन को मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर करीब दस मिनट अतिरिक्त समय तक रोका गया जहां पहले से डॉक्टर मौजूद थे। डॉक्टरों ने युवती को प्राथमिक उपचार दिया। इसके बाद ही ट्रेन मुरादाबाद रेलवे स्टेशन से आगे के लिए रवाना हुई।

यह भी पढ़ें: राजपूतों ने प्रवेश द्वार पर लगाया 'ठाकुर ग्राम' का साइन बोर्ड, अन्य जातियों के लोगों को ऐतराज, तनाव

देश की राजधानी नई दिल्ली से राजगीर के लिए चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस के एसी-3 ट्रायर की बी-7 बाेगी की 43 नम्बर सीट पर 22 वर्षीय प्रतिमा सफर कर रही थी। ट्रेन पकड़ने के लिए प्रतिमा ने नई दिल्ली स्टेशन पर तेजी से सीढ़ियां चढ़ी ताे उनके पैर में मोच आ गई। मोच आने से पैर में दर्द होने लगा लेकिन चलती ट्रेन में उपचार की कोई व्यवस्था नहीं थी। इस पर युवती ने पहले 139 पर कॉल करके मदद मांगी और फिर रेल मंत्रालय को ट्वीट कर दिया।

यह भी पढ़ें: संभल: बेकाबू डंपर ने चार वाहनों को मारी टक्कर, साइकिल सवार छात्रा की मौत, दो घायल

युवती ने ट्वीट में बताया कि नई दिल्ली से पटना जाने वाली हमसफ़र ट्रेन में वह अकेली सफर कर रही हैं। नई दिल्ली स्टेशन के प्लेटफार्म की सीढ़ी चढ़ते हुए उसके पैर में मोच आ गई थी। मोच के कारण पैर में दर्द शुरू हो गया जो बढ़ता जा रहा है लेकिन उपचार की काेई व्यवस्था नहीं है। इस ट्वीट को रेल मंत्रालय ने गंभीरता से लिया और युवती को एसएमएस के जरिए सूचना दी कि दोपहर 1 बजकर 40 मिनट पर ट्रेन मुरादाबाद स्टेशन पर रुकेगी। रेलवे के चिकित्सक वहां भेज दिए गए हैं जो इलाज करेंगे। इलाज के बाद ही ट्रेन को आगे चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: हाथरस कांड: पीड़िता के पिता के खाते में पहुंचे 25 लाख, बोले- घर और नौकरी का वादा भी पूरा करें सीएम योगी

ट्रेन के मुरादाबाद पहुंचते ही डिप्टी स्टेशन अधीक्षक नजूल हसन चिकित्सकों की टीम और टीटीई के साथ युवती के पास पहुंच गए। इस तरह रेलवे के चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ ने युवती को प्राथमिक उपचार के साथ ही दवाएं भी दी। इस पूरी प्रक्रिया में करीब 20 मिनट का समय लग गया। इस तरह ट्रेन दोपहर 2 बजकर 10 मिनट पर मुरादाबाद स्टेशन से आगे के लिए रवाना हुई। युवती के इलाज के कारण ट्रेन करीब दस मिनट देरी से रवाना हो सकी। सहायक वाणिज्य प्रबंधक नरेश सिंह ने बताया कि सूचना मिलते ही चिकित्सक स्टेशन पर पहुंच गए थे। युवती का इलाज किया गया है। इस कारण ट्रेन दस मिनट देरी से चली।



Advertisement