हाथरस घटना पर यूपी के राज्यमंत्री ने दिया बयान, बोले विपक्ष जो भी छोटे मोटे मुद्दे आ रहे उन्हे उठा रहे हैं

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर देहात-यूपी के हाथरस कांड को लेकर पूरे देश में लोग सड़कों पर उतर आए हैं। कहीं राजनीतिक दलों के सतासीन बीजेपी सरकार पर तीखे प्रहार तो कहीं घटना को याद कर आम जनमानस का हृदय द्रवित हो रहा है। वहीं विपक्षियों के बयानों के मुताबिक बीजेपी सरकार के महिला सुरक्षा के दावे धरातल पर नहीं दिख रहे हैं। वहीं कानपुर देहात में साड़ी वितरण कार्यक्रम में यूपी के राज्यमंत्री अजीत पाल सिंह पहुंचे। हाथरस कांड पर उनसे पूछे जाने पर उन्होंने चौंका देने वाला बयान दिया। उन्होंने अपने बयान में हाथरस को छोटे मोटे मुद्दे कहा, जिसे सुनकर लोग सन्न रह गए। बाद में बात को दरकिनार करते हुए बोले कानून अपना काम कर रहा है।

साड़ी वितरण में रहा ऐसा नजारा

दरअसल जनपद कानपुर देहात में आज गांधी जयंती के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से महिलाओं के लिए साड़ी वितरण का कार्यक्रम रखा गया था। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में यूपी के राज्यमंत्री अजीत पाल ने शिरकत की। जिसमें राज्यमंत्री की मौजूदगी में केंद्र और राज्य सरकार की कोविड-19 की जारी गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। उसके बाद जिन महिलाओं को साड़ी नहीं मिली उन सभी ने मंत्री के सामने जमावड़ा लगाकर चीखना चिल्लाना शुरू कर दिया। हालात ऐसे थे कि कुछ महिलाओं की साड़ी मिली तो कुछ धक्का मुक्की खाकर लौट गईं। जब मीडिया ने उन महिलाओं से बात की तो उन महिलाओं का कहना था कि बीजेपी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने चिन्हित महिलाओं को साड़ी वितरित की है।

राज्यमंत्री ने हाथरस घटना पर दिया बयान

वहीं राज्यमंत्री से हाथरस में बेटी के साथ दुष्कर्म के बाद बर्बरतापूर्ण उसके साथ कृत्य किया गया, जिसकी बाद पीड़िता की दर्दनाक मौत हो गई। इस पर राज्यमंत्री अजीत पाल ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है। जो भी है सरकार निर्णय लेगी और कानून काम भी कर रहा है। विपक्ष के बयानों पर उन्होंने कहा कि विपक्ष हावी है तो उसमें हमलोग क्या कर सकते हैं। विपक्ष के पास कोई काम नहीं है। जो भी छोटे मोटे मुद्दे आ रहे हैं, केवल वही उठाकर ला रहे हैं, जनहित का कोई कार्य नहीं कर रहे हैं। महिलाओं के साथ हो ऐसे अपराध क्या छोटे मोटे हैं तो इस पर चुप्पी साधते हुए कहा कि कानून जांच कर रहा है, काम कर रहा है। डॉक्टर ने बोला ऐसा कुछ नहीं हुआ है, जो होगा वह सामने आएगा।



Advertisement