IPL सट्‌टेबाजी: वेस्ट यूपी में सट्‌टेबाजी का बड़ा खुलासा, पेटीएम के जरिये हो रहा था लेन-देन

मेरठ. आईपीएल की सट्टेबाजी में पेटीएम का उपयोग किया जा रहा है। पुलिस से बचने के लिए बुकी ने नया सॉफ्टवेयर भी खरीद डाला, जिसकी कीमत 10 हजार रुपए बताई जा रही है। मेरठ में बैठकर बुकी पूरे पश्चिम उत्तर प्रदेश में सट्टेबाजी की जड़े जमाए हुए था। इसका खुलासा बुकी के अलावा चार सटटेबाजों के पकड़े जाने पर हुआ।

यह भी पढ़ें- हाथरस के बाद अब मेरठ में छात्रा से गैंगरेप, पीड़िता के घर के बाहर लगाई पुलिस फोर्स

एसएसपी अजय साहनी की सूचना पर आईपीएल के मैचों पर सट्टा लगाने वाले गिरोह को सर्विलांस सेल टीम ने गिरफ्तार किया। थाना सिविल लाइन क्षेत्र के साकेत कॉलोनी स्थित होटल सिल्वर पर्ल से सट्‌टा संचालित हो रहा था। इसमें होटल सिल्वर पर्ल के मैनेजर समेत गिरोह के चार सदस्य गिरफ्तार किए गए हैं। इनके पास से दस मोबाइल फोन, एक लैपटॉप एक रजिस्टर व अन्य सामान बरामद हुआ है। गिरोह का सरगना राम पुत्र अशोक है, जो कि पेटीएम के माध्यम से जीत-हार के रुपए का लेनदेन का काम करता था। यह मेरठ में ही बैठकर बुकी का काम करता था।

पुलिस को छानबीन में पता चला कि दिल्ली में आईपीएल की बुकिंग करने वाले बंटी नामक बुकी से इसने 10 हजार में सॉफ्टवेयर खरीद था और 2500 रुपए में बुकिंग की लाइन लेकर नोएडा, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़ बिजनौर, बड़ौत और मुंबई के अन्य आईपीएल पर सट्टा खिलाने वालों से संपर्क कर सट्टा खिला रहा था। बताया जा रहा है कि लेन-देन किसी दूसरे जानकर के माध्यम से ऑनलाइन होता था या पेटीएम अकाउंट में पैसा डाल देते थे।

पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है, उनके नाम राम पुत्र अशोक कुमार निवासी मकान नंबर 354 सदर दाल मंडी थाना सदर बाजार, हरेंद्र उर्फ बिट्टू पुत्र रामप्रसाद निवासी मकान नंबर 12 मोहल्ला चूड़ी बाजार थाना सदर बाजार, आशीष उर्फ गोलू पुत्र पवन गोयल निवासी मकान नंबर 221 सदर दाल मंडी थाना सदर बाजार, मिक्की उर्फ परमजीत पुत्र बलजीत सिंह निवासी मकान नंबर 138 मोहल्ला शर्मा नगर थाना सिविल लाइन, सुमित कुमार लाल पुत्र सुशील कुमार लाल निवासी मकान नंबर 11 लाल पार्क कॉलोनी गंगा नगर मेरठ हैं।

यह भी पढ़ें- हाथरस में जयंत चौधरी पर लाठीचार्ज के विरोध में सड़कों पर उतरे रालोद नेता और कार्यकर्ता



Advertisement