दो लाख के इनामी बदमाश को तलाश रही थी दो राज्यों की पुलिस, STF ने एनकाउंटर में किया ढेर

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

ग्रेटर नोएडा। यूपी एसटीएफ की नोएडा यूनिट और आपराधिक घुमंतू जनजातियों के सक्रिय गैंग के बीच हुई मुठभेड़ में गोली लगने से दो लाख के इनामी बदमाश की मौत हो गई। दरअसल, मुठभेड़ के बाद डॉक्टरों द्वारा मृत घोषित बदमाश की पहचान अनिल उर्फ अमित उर्फ जूथरा पुत्र रमेश निवासी फरुखाबाद के रूप में हुई है। अनिल हाइवे पर लूट डकैती और दुष्कर्म करने वाले आपराधिक घुमंतू जनजातियों के सक्रिय गैंग था।

इस गैंग की गतिविधियों पर नज़र रखे एसटीएफ़ को मिले एक इनपुट के बाद मथुरा के नौझील क्षेत्र में मुठभेड़ हुई थी। अनिल ने बीते 20 जनवरी अपने साथियों के साथ केएमपी रोड, पलवल पर गाड़ी पंक्चर करके सवारियों से लूटपाट की और एक 14 वर्षीय बालक के साथ मिलकर दुष्कर्म किया। उसके बाद ही पुलिस उसकी तलाश कर रही थी।

अनिल पर दो लाख रुपये के ईनाम में मथुरा से एक लाख, टप्पल अलीगढ़ पुलिस ने पचास हज़ार और पलवल हरियाणा पुलिस ने पचास हज़ार घोषित किया हुआ था। एसटीएफ नोएडा यूनिट लगातार सिविलांस के माध्यम से उसकी गतिविधयों को मोनिटर कर रहा था। रविवार की सुबह एक इनपुट के बाद कि घूमंतु बावरिया गिरोह के कुछ बदमाश किसी वारदात को अंजाम देने के फिराख में हैं। एसटीएफ की टीम ने घेराबंदी की।

मथुरा के नौझील क्षेत्र के पास बदमाश से मुठभेड़ हो गई। बदमाश ने पुलिस टीम पर फ़ायरिंग कर भागने लगे, लेकिन एसटीएफ़ ने भी जवाबी फ़ायरिंग की। इसमें अनिल को गोली लगी और वह जख्मी होकर गिर पड़ा। उसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर इलाज के लिए अस्पताल में दाखिल कराया है। जहां डॉक्टरों उसे मृत घोषित कर दिया।



Advertisement