गोरखपुर रेलवे स्टेशन से गायब हुई पूर्व चुनाव आयोग की बिल्ली, पूरे शहर में लगाए पोस्टर, ढूंढने वाले को 11 हजार इनाम

गोरखपुर. गोरखपुर में एक बिल्ली को ढूंढने के लिए पूरे शहर में उसकी गुमशुदगी के पोस्टर लगाए गए। साथ ही बिल्ली की तलाश करने वाले को 11 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की गई। दरअसल, भारत के पूर्व चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी की पत्नी और नेपाल चुनाव आयुक्त रहीं इला शर्मा की पालतू बिल्ली गोरखपुर रेलवे स्टेशन से गायब हो गई। वह प्लेटफार्म नंबर 6 से गायब हुई थी। उसकी खोज के लिए इला शर्मा ने जीआरपी थाने में तहरीर दी। आरपीएफ व जीआरपी के साथ ही पुलिस भी बिल्ली की सरगर्मी से तलाश में जुट गई। शहर के विभिन्न इलाकों में बिल्ली का पोस्टर लगाकर ढूंढने वाले को उसे पुलिस को सूचना देने के लिए कहा गया।

गोरखपुर रेलवे स्टेशन से गायब हुई पूर्व चुनाव आयोग की बिल्ली, पूरे शहर में लगाए पोस्टर, ढूंढने वाले को 11 हजार इनाम

हुलिए के आधार पर बिल्ली की तलाश शुरू

नेपाल की चुनाव आयुक्त रहीं इला शर्मा दिल्ली जा रही थीं। उन्हें गोरखपुर से ट्रेन पकड़ना था। उनके साथ उनकी पालतू बिल्ली हीवर भी थी। बुधवार की रात में वह रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर छह पर पहुंची। वहीं से उनकी पालतू बिल्ली हीवर गायब हो गई। उन्होंने बिल्ली की तलाश की तो वह नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने जाआरपी थाने में इसकी तहरीर दर्ज कराई। इला शर्मा और उनके पति के बारे में जानने के बाद पुलिस वाले तत्काल सक्रिय हो गए और हुलिए के आधार पर बिल्ली की तलाश शुरू कर दी। इस बीच रेलवे स्टेशन व शहर के विभिन्न हिस्सों में लापता बिल्ली का पता लगाने में मदद करने से संबंधित एक पोस्टर जारी किया गया। पोस्टर में बिल्ली का पता बताने या फिर उसकी तलाश में मदद करने वाले को 11 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की गई है।

बिल्ली की तलाश जारी

इस मामले में जीआरपी थाना के प्रभारी निरीक्षक बृजभान पांडेय का कहना है कि नेपाल की पूर्व चुनाव आयुक्त इला शर्मा को डिब्रूगढ़-चंडीगढ़ एक्सपे्रस से दिल्ली जाना था। बुधवार की रात 11 बजे उनकी बृजभान पांडेय बृजभान पांडेय ट्रेन थी। प्लेटफार्म से उनकी बिल्ली गायब हो गई। बिल्ली की तलाश की जा रही है।

ये भी पढ़ें: महिला के कारनामों से परेशान ग्रामीणों ने एसडीएम को लिखा पत्र, कहां दूसरे शहर बसने को होंगे मजबूर, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

ये भी पढ़ें: यूपी सरकार ने माना, 31277 अभ्यर्थियों की चयन सूची में हुई गलतियां



Advertisement