यूपी उपचुनाव 2020 : सात विधानसभा सीटों पर आज हो रहा मतदान, 88 उम्मीदवारों के भाग्य का होगा फैसला

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. यूपी विधानसभा उपचुनाव 2020 में आज सात विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग जारी है। कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान सुबह सात बजे से शुरू हो चुका है जो शाम छह बजे तक चलेगा। स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए पोलिंग पार्टी और अर्द्धसैनिक बल सातों विधानसभा क्षेत्रों में तैनात हैं। करीब 24 लाख मतदाता उपचुनाव में सात नए विधायकों का चुनाव करने वाले हैं। दस नवम्बर को उपचुनाव का रिजल्ट आ जाएगा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए केंद्रीय चुनाव आयोग ने मतदान के लिए जो गाइडलाइन जारी की थीं, उन सभी का पालन किया जा रहा है। कहीं भी कोई खामी और कमी मिलने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस उपचुनाव में 88 उम्मीदवार सात विधानसभा क्षेत्रों से अपने भाग्य को आजमा रहे हैं।

इन सीटों पर उपचुनाव

नौगवां सादात (अमरोहा), बुलंदशहर, टूण्डला सुरक्षित (फिरोजाबाद), बांगरमऊ (उन्नाव), घाटमपुर सु. (कानपुर नगर), देवरिया, मल्हनी (जौनपुर)।

नई गाइडलाइन का पालन

कोरोना वायरस की वजह से केन्द्रीय चुनाव आयोग ने मतदान के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। इस नई गाइडलाइन के अनुसार सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होना है। प्रत्येक पोलिंग बूथ पर अधिकतम एक हजार वोटर ही मतदान कर सकेंगे। इस वजह से हर मतदान केन्द्र पर सहायक पोलिंग बूथ भी बनाये गए हैं। कोरोना संक्रमित, बुजुर्ग और दिव्यांगजनों को पोस्टल बैलेट से मतदान करने की सुविधा है।, ऐसे मतदाताओं के पास मतदानकर्मी जाकर उनका वोट एकत्र करेेंगे। प्रत्येक मतदाता को ईवीएम का बटन दबाने के लिए हैण्ड ग्लव्स दिए जाएंगे।

24 लाख मतदाता करेंगे वोट

इन उपचुनाव में सात विधानसभा सीटों के लिए कुल 24,27922 वोटिंग की जानी है। जिसमें 13,00684 पुरुष और 11,27108 महिला मतदाता अपना वोट अपने पसंदीदा उम्मीदवार को देंगे। वोट डालने में 130 थर्ड जेंडर भी शामिल होंगे। इन उपचुनाव को देखते हुए सात जिलों में 'ड्राई डे' लागू कर दिया गया है। 3 नवम्बर को मतदान खत्म होने के बाद शराब, बीयर, भांग की सभी लाइसेंसी दुकानें खुलेंगी।

उपचुनाव के परिणामों का इंतजार

सत्ता में विराजमान भाजपा सहित सभी पार्टिंयों को यूपी विधानसभा उपचुनाव के परिणाम का बेसब्री से इंतजार रहेगा। वजह साफ है क्योंकि यह उपचुनाव, यूपी विधानसभा चुनाव 2020 का आईना है। यह उपचुनाव प्रदेश के सभी दलों को विधानसभा चुनाव 2020 की रणनीति बनाने में मदद करेगा। मतदाताओं को रिझाने के बाद अब सभी राजनीतिक दल की निगाहें चुनाव परिणाम पर लगी हुई है।



Advertisement