मुख्तार अंसारी परिवार पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 22 करोड़ का गोदाम व आठ जमीनें कुर्क

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजीपुर. बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी और उनके दो भाइयों अनवर शहजाद और शरजील रजा के नाम से पंजीकृत 22 करोड़ 21 लाख रुपये मूल्य की सम्पत्तियां कुर्क कर ली गईं। कुर्क की गई सम्पत्तियों में एफसीआई गोदाम और उससे संबंधित रकबा की कुल 8 जमीनें शामिल हैं। ये सम्पत्ति मेसर्स विकास कंस्ट्रक्शन के नाम पर है, जिसमें मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी, पत्नी के दो भाई अनवर शहजाद और शरजील रजा समेत अन्य लोगों के नाम हैं। एसपी का कहना है कि मुख्तार अंसारी की पत्नी के खिलाफ ये कार्रवाई गैंगस्टर एकट के तहत गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद की जा रही है। एसडीएम सदर अनिरुद्घ प्रताप सिंह और सीओ सिटी ओजस्वी चावला के नेतृत्व में पहुंची प्रशासन की टीम ने पहले डुगडुगी बजवायी और उसके बाद कुर्की की कार्रवाई की गई। जानकारी के मुताबिक जिन भूखंडों की कुर्की की गई वह यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त थे।

 

उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा माफियाओं के खिलाफ चल रही कार्रवाई के क्रम में गाजीपुर में मुख्तार अंसारी और उनके सहयोगी के खिलाफ ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। इस क्रम में नन्दगंज थाना इलाके के फतेहउल्लाहपुर गांव स्थित एफसीआई के गोदाम की कुर्की की गई जिसकी कीमत करीब 22 करोड़ 21 लाख रुपए बताई जा रही। विकास कंस्ट्रक्शन के नाम पर बनी इस सम्पत्ति में एफसीआई का गोदाम किराए पर चलाया जाता था। इसके मालिक मुख्तार अंसारी की पत्नी और उनके दो सालों के नाम पर है। इन सभी के खिलाफ गाजीपुर की सदर कोतवाली इलाके में गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है। पुलिस के मुताबिक ये लोग आईएस 191 गैंग के सहयोगी हैं।


बताते चलें कि इसके पूर्व मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशा अंसारी और उनके दो साले के बवेड़ी स्थित करोड़ों रुपये के भूखंड को छह नवंबर को जिला प्रशासन ने कुर्क किया था। उसके बाद रजदेपुर देहात इलाके में बेटे अब्बास अंसारी और पत्नी अफशां के नाम पर बने एक कमर्शियल कंपलेक्स को 2 दिन पहले कुर्क किया गया थ। इसके बाद 22 करोड़ 21 लाख की संपत्ति को कुर्क किया गया है। इसके पहले इसी माह में मुख्तार अंसारी के गाजीपुर स्थित होटल गजल को भी प्रशासन ध्वस्त कर चुका है।

 

अब तक जिले में मुख्तार अंसारी और उनके सहयोगियों की करीब 150 करोड़ की संपत्ति पर कुर्की और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जा चुकी है। इसके अलावा 77 सस्त्र लाइसेंस निलंबित और निरस्त कर जमा कराए जा चुके है।

By Alok Tripathi



Advertisement