यूपी के इस शहर में बनाए गए 316 हाइटेक शौचालय, महिलाओं के लिए भी बने Pink Toilet

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। विश्व शौचालय दिवस के अवसर पर नोएडा प्राधिकरण ने 46 शौचालय का तोहफा नोएडावासियों को दिया। इनको मिलाकर शहर में अब 316 शौचालय-यूरिनल हो गई हैं। इनको बनाने पर प्राधिकरण ने पांच करोड़ से ज्यादा रुपये खर्च किए हैं। पूर्व केन्द्रीय मंत्री व सांसद डॉ. महेश शर्मा, विधायक पंकज सिंह और नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने इनका लोकार्पण नोएडा के सेक्टर 125 में आयोजित एक समारोह में किया।

यह भी पढ़ें: EOW के हत्थे चढ़ा 3500 करोड़ रुपये के फ्रॉड का आराेपी विजय शर्मा

दरअसल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद डॉ. महेश शर्मा, विधायक पंकज सिंह और नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने फीता काटकर नोएडा में अलग-अलग स्थानों पर बने 46 शौचालयों का लोकार्पण किया। इनको मिलाकर शहर में अब 316 शौचालय-यूरिनल हो गए है। नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने बताया कि शहर के अलग-अलग स्थानों पर 46 शौचालयों का निर्माण किया गया है। इन 46 में से 3 पिंक शौचालय बनाए गए हैं।

तीन पिंक टॉयलेट का उद्घाटन के साथ अब शहर में 10 पिंक टॉयलेट हैं और कई और टॉइलेट का भी निर्माण किया गया है। प्रयास किया गया है कि ये टॉइलेट मेन मार्केट एरिया, एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में हो जहां पर लोगों का आना जाना जाना लगा रहता है। महिलाओं का वहां अलग से पिंक टॉयलेट का निर्माण किया गया, जिनमे महिलाओं के लिए और अधिक सुविधाएं दी गई हैं। ये टॉइलेट सेक्टर-34, महामाया फ्लाईओवर और सेक्टर-125 में करीब 52 लाख रुपये की लागत से बनाए गए हैं। ये तीनों शौचालय बीओटी आधार पर बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें: 235 लोग कोरोना पॉजिटिव, प्रदेश में तीसरे पायदान पर पहुँचा गौतमबुद्ध नगर

ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि बाकी 43 शौचालय महिला-पुरुष दोनों के लिए हैं। इस अवसर पर नोएडा के विधायक पंकज सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2014 से ही इस दिशा में काफी काम किया था और लोगों को मोटिवेट भी किया था। सैनिटाइजेशन के क्षेत्र में स्वच्छता के क्षेत्र में साफ सफाई के लिए बहुत काम किया था। यही कारण है कि लोगों ने इसे एक मिशन के रूप में लिया और पूरे देश में 11 करोड़ टॉयलेट बने। वर्ल्ड टॉयलेट डे के नोएडा प्राधिकरण के द्वारा भी नोएडा क्षेत्र 46 टॉयलेट बनाए गये हैं, जिसमें तीन पिंक टॉयलेट में जो सिर्फ और सिर्फ महिलाओं के लिए ही डेडिकेटेड है।



Advertisement