टूंडला उपचुनाव: चहुंओर मतदान बहिष्कार, मतदान केन्द्रों में पसरा रहा सन्नाटा

फिरोजाबाद। ग्रामीणों ने विकास कार्यो की मांग पूरी न होने पर चुनाव बहिष्कार कर दिया। सुबह से ही कई बूथों पर एक भी मत नहीं डला। अधिकारी ग्रामीणों को मनाने में लगे हैं लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर अड़िग हैं। बहिष्कार वाले गांव में लोग एकजुट होकर बैठे हैं लेकिन मतदान करने नहीं जा रहे।

558 मतदान केन्द्रों पर हो रहा मतदान
मंगलवार (आज) सुबह सात बजे से मतदान प्रक्रिया प्रारंभ हो गई। 558 मतदान केन्द्रों पर चुनाव हो रहे हैं। सुरक्षा व्यवस्था के लिए करीब 4500 पुलिसकर्मी और अन्य सुरक्षाकर्मी लगाए गए हैं। तहसील क्षेत्र के गांव रूधऊ मुस्तकिल में ग्रामीण सुबह घर से निकले लेकिन मतदान केन्द्र पर नहीं पहुंचे। सुबह आठ बजे तक एक भी मतदाता केन्द्र पर नहीं पहुंचा। ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार की घोषणा कर दी। ग्रामीणों का कहना था कि गांव में कोई भी विकास कार्य नहीं कराया गया है। गांव में नाली, खरंजा और जलभराव की समस्या है। हर बार आश्वासन देकर उन्हें शांत करा दिया जाता है।

school

मौके पर पहुंचे अधिकारी
मौके पर एसडीएम एकता सिंह समेत काफी पुलिस फोर्स पहुंच गया। अधिकारी ग्रामीणों को मनाने में जुटे हैं लेकिन अभी तक मतदान शुरू नहीं हो सका। वहीं, कोटला के कछपुरा में ग्रामीण श्मसान घाट बनवाने और अस्पताल की मांग को लेकर चुनाव बहिष्कार कर रहे हैं। इसके अलावा नारखी क्षेत्र के नगला बल्लू कायथा में भी ग्रामीणों ने विकास कार्यो की मांग को लेकर चुनाव बहिष्कार कर दिया है। इन गांवों में अभी तक एक भी वोट नहीं पड़ सका है। अधिकारी ग्रामीणों को मनाने में लगे हैं।



Advertisement