एक मकान में छापेमारी के दौरान दंग रह गई पुलिस, सामने थे दो करोड़ से ज्यादा के एक से एक पटाखे, मचा हड़कंप

रायबरेली. जनपद रायबरेली के एक मकान के गोदाम में छापेमारी के दौरान पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में पटाखे जब्त किए गए। इन पटाखों की कीमत करीब दो करोड़ रुपये आंकी जा रही है। मामला भदोखर थाना क्षेत्र में स्थित मुंशीगंज कस्बे का है। वहीं जिस स्थाई लाइसेंस होल्डर के गोदाम से ये बरामदगी हुई वह अभी फरार है। मौके से नयाब नाम के युवक को पकड़ा गया है। वह मुंशीगंज का ही रहने वाला है। ये गोदाम पटाखा व्यवसाई नसीम का बताया गया है, जिसके पास स्थाई लाइसेंस है। तय सीमा से ज्यादा मात्रा में विस्फोटक रखने पर ये कारवाई की गई है।

जब्त की पटाखों की खेप

रायबरेली के अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव, एडीएम प्रशासन राम अभिलाष, सीओ सदर डॉ.अंजनी कुमार चतुर्वेदी ने मुखबिर की सूचना पर भदोखर थानेदार राम आशीष उपाध्याय के साथ शहीद स्मारक जाने वाले मार्ग पर एक मकान के गोदाम में छापेमारी की और पटाखों की खेप जब्त की। दरअसल पुलिस को सूचना मिली थी कि इस मकान में अवैध तरीके से भारी मात्रा में पटाखा डंप है। मकान के अंदर पुलिस पहुंची तो नजारा देख दंग रह गई। गोदान में गत्तो में भरकर भारी मात्रा में एक से एक पटाखे रखे हुए थे।

मकान में डंप था कई टन पटाखा

अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव ने बताया कि मुंशीगंज के एक मकान में कई टन पटाखा डंप किया गया था, जिसकी कीमत दो करोड़ रुपये से भी ज्यादा आंकी जा रही है। पटाखा मुंशीगंज के नसीम का होना बताया जा रहा है। मुख्य आरोपी नसीम मौके से फरार है। उसकी तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि दीवाली पर प्रदूषण को देखते हुए तेज आवाज और धुंआ वाले पटाखों की बिक्री पर रोक लगाई गई है। उन्होंने बताया कि नसीम के रिश्तेदार बीते लंबे समय से शहर में पटाखों कारोबार करते आ रहे हैं। हालांकि इस बार सिर्फ नसीम ही पटाखे का कारोबार कर रहा था। इसलिए पुलिस ने शक के आधार यह कार्रवाई की।



Advertisement