मुख्यमंत्री ने दिया माटी कला के हुनरमंदों को बड़ा तोहफा, कलाकारों ने जताई खुशी, जताया आभार

लखनऊ. माटी कला के हुनरमंदों के लिए इस बार की दिवाली बहुत खास होगी। आर्थिक परेशानी से जूझने वाले इन कालाकरों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दिवाली अपनेपन का वह तोहफा दिया है जो उनकी जिंदगी के यादगार पलों में से एक हो सकता है। शुक्रवार को माटी कला मेले का आखिरी दिन होने के कारण कुठ कलाकार मुख्यमंत्री से मिलने उनके आवास पहुंचे। कलाकारों ने मुख्यमंत्री को मेले में बचे अपने कुछ उत्पादों को उपहार के रूप में भेंट करने की इच्छा जताई थी लेकिन मुख्यमंत्री ने उनसे बचे हुए माटी कला के सारे करीब 20 हजार के उत्पाद 25 हजार देकर खरीद लिए। मुख्यमंत्री के इस अपनेपन से कलाकारों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री आवास से वापस जाते वक्त मुख्यमंत्री ने सभी को मिठाई खिलाई और उपहार भी दिए।

उम्मीद से 10 गुना अच्छा रहा मेला

मुख्यमंत्री से मिलने आजमगढ़ के घुरहूराम प्रजापति, गोरखपुर के राम मिलन प्रजापति, गोरखपुर के हीरालाल प्रजापति, बाराबंकी के शिव कुमार सहित नौ कलाकार गए थे। गोरखपुर जिले के जंगल एकला नंबर दो बुढऊ टोला निवासी हरिओम प्रजापति ने बताया कि ‘मुख्यमंत्री ने हमसे पहले मेले के बारे में पूरी जानकारी ली, फिर हमारी परेशानियों के बारे में पूछा। मेला हमारी उम्मीद से 10 गुना ज्यादा अच्छा है।

अपनों को दें ओडीओपी का तोहफा

इस दिवाली मुख्यमंत्री ने ओडीओपी के सामानों को उपहार में देने की अपील की है जिससे की भारतीय कला व यहां की संस्कृति ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे। मुख्यमंत्री ने इस बार प्रधानमंत्री मोद, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सहित नामचीन हस्तियों को ओडीओपी गिफ्ट हैंपर भेजने की कवायद शुरू की है। मुख्यमंत्री की मंशा है कि लोग इस गिफ्ट बास्केट के जरिये यूपी के ओडीओपी उत्पादों की खासियत से वाकिफ हों। इसमें गोरखपुर, वाराणसी, लखनऊ, कन्नौज, मुरादाबाद, अयोध्या, कानपुर, आजमगढ़, मुजफ्फरनगर, चंदौली, प्रयागराज, प्रतापगढ़, कन्नौज, सहारनपुर, सिद्धार्थनगर जिलों के उत्पाद शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: दुनिया के नक्शे पर चमकेगा सूर सरोवर पक्षी विहार, रामसर साइट में शामिल हुआ यूपी का आठवां वेटलैंड

ये भी पढ़ें: एक बार फिर सुर्खियों में आया अमेठी, अकेले पूरे यूपी में बनाया इस बात का रिकॉर्ड



Advertisement