राशन कार्ड और आय जाति प्रमाण पत्र बनवाना होगा महंगा, जानिये अब कितनी देनी होगी फीस

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी/लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अब राशन कार्ड आय और जाति प्रमाणपत्र बनवाा महंगा होने जा रहा है। राशन कार्ड और प्रमाण पत्रों समेत करीब दो दर्जन सरकारी योजनाों के लिये आवेदन करने पर अब यूजर चार्ज के रूप में 30 रुपये अदा करने होंगे। शुल्क में यह बढ़ोत्तरी 16 नवंबर से लागू हो जाएगी। अब तक इन सेवाआें के लिये 20 रुपये शुल्क अदा करने पड़ते थे। इसके साथ ही अब जनसेवा केन्द्र का संचालन यूपी के सभी 75 जिलों में दो डिस्ट्रिक्ट प्रोवाइडर संस्थएं करेंगी। लखनऊ में वाईफाई चौपाल और एसआरईआई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड काम करेंगी।

 

उत्तर प्रदेश में आय-जाति और राशन कार्ड समेत प्रमाण पत्र जन सेवा केन्द्रों से भी बनवाए जा सकते हैं। इन काॅमन सर्विस सेंटरों यानि सीएससी पर एक निर्धारित शुल्क देकर प्रमाण पत्र बनवाना बेहद आसान है। मौजूदा समय में उत्तर प्रदेश में गांव से लेकर शहर तक 65 हजार सहज जनसेवा केन्द्र सीएससी का जाल फैला हुआ है।

 

अभी इन सीएससी केन्द्रों पर राशन कार्ड समेत दर्जन भर से अधिक योजनाआें के लिये आवेदन करने पर 20 रुपये का शुल्क अदा करना पड़ता था। जिसमें 10 रुपये का इजाफा कर इसे 3 रुपये कर दिया गया है। नर्इ दर 16 नवंबर से लागू होगी। एडभ्एम वित्त एवं राजस्व विपिन मिश्रा ने मीडिया को बताया है कि 16 नवंबर से सीएससी से आवेदन करने पर 30 रुपये शुल्क देना पड़ेगा।

 

बढ़ेगी आय

सरकार के इस फैसले से यूपी के 65000 सीएससी संचालकों की आय बढ़ जाएगी। सीएससी संचालक अपने कमीशन बढ़ाने की काफी समय से मांग कर रहे थे। अब तक प्रति आवेदन वो 20 रुपये वसूलते थे, जिसमें से उन्हें महज 4 से 5 प्रतिशत कमीशन मिलता था। अब शुल्क बढ़कर 30 रुपये हो जाने पर उनका कमीशन बढ़कर 12 से 15 रुपये तक पहुंच जाएगी।



Advertisement