यूपी के इस गांव में सुहागिनों ने नहीं मनाया करवाचाैथ पर्व, एक साथ उठी पांच अर्थियां

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। करवाचाैथ से पहले गाांव से एक साथ पांच अर्थियां उठी ताे पूरे गांव में शाेक पसर गया। इस गांव में ना ताे किसी घर में चूल्हा जला और ना ही सुहागिनाें ने करवाचाैथ पर्व मनाया।

यह भी पढ़ेंं: ग्रेटर नोएडा के फ्लैट में सहारनपुर के कारोबारी दम्पति की बेरहमी से हत्या, अमेरिका में रहता है बेटा

दरअसल, राजस्थान के खाेली से बाबा के दर्शन कर लौट रहे छह श्रद्धालुओं की कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे पर हादसे के दौरान मौत हो गई। सभी रोहटा थाना क्षेत्र के गांव उकसिया व किनौनी के रहने वाले थे। पोस्टमार्टम के बाद शव गांव लाए गए। इसके बाद गमगीन माहौल में सभी का अंतिम संस्कार कर दिया गया। एक साथ एक ही गांव से पांच अर्थियां उठी ताे किसी ने पर्व नहीं मनाया और ना ही गांव के किसी घर में चूल्हा जला।

यह भी पढ़ेंं: बड़े नेताओं के साथ इन लोगों के भी हथियारों के लाइसेंस हुए निरस्त, देखें सूची

रोहटा थाना क्षेत्र के उकसिया और किनौनी गांव के 17 लोग पिकअप गाड़ी से राजस्थान के खोली में बाबा मोहनराम धाम के दर्शन के लिए गए थे। लाैटते वक्त सोमवार को इनकी पिकअप कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे पर गांव पाई के पास अज्ञात वाहन से टकराकर पलट गई। इस दुर्घटना में तीन महिलाओं समेत छह लोगों की मौत हो गई। हादसे में बच्चों समेत 14 लोग घायल हुए।

यह भी पढ़ेंं: तेज रफ्तार कार डिवाइडर तोड़ते हुए खुले नाले में गिरी, लोगों ने शीशा तोड़कर बचाई युवक की जान

हादसे में गांव उकसिया निवासी ममता पत्नी मांगेराम, सनेश पत्नी संतराम और उसका तीन वर्षीय बेटा विराट, नितिन पुत्र जयकरण उसकी बहन प्रीति और गांव किनौनी निवासी कुसुम पत्नी महेश की मौत हो गई। शव गांव लाए गए तो कोहराम मच गया। पीड़ितों के घर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। शाम करीब पांच बजे गांव स्थित श्मशान घाट में सभी का अंतिम संस्कार कर दिया गया। मरने वालों में एक दूसरे गांव का भी है।



Advertisement