यात्रियों के लिए बड़ी खबर, बॉर्डर पर हेल्थ टीम रहेगी तैनात, अब कोरोना की होगी रेंडम जांच

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। तापमान में लगातार गिरावट और त्योहारों के बाद कोरोना वायरस का प्रकोप फिर से बढ़ने की आशंका चिकित्सकों और विशेषज्ञों ने जाहिर की है। जिसके चलते गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने सतर्कता बरतने के लिए कमर कस ली है। इस कड़ी में जिलाधिकारी ने मंगलवार की शाम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वास्थ्य विभाग व अन्य अधिकारियों संग एक बैठक की है। जिसमें उन्होंने नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात कर लोगों की रेंडम जांच करने के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना का एक बार फिर बढ़ा प्रकोप, इन जिलों में सख्त होंगे नियम

जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने कहा कि नोएडा से दिल्ली आने जाने वाले लोगों का रैपिड टेस्ट कराया जाएगा। साथ ही उनका बॉडी टेंपरेचर भी लिया जाएगा। यदि कोई भी व्यक्ति कोविड पॉजिटिव निकलता है तो उसे नोएडा में दाखिल होने की इजाजत नहीं दी जाएगी। इसमें पुलिस का भी सहयोग लिया जाएगा। ऐसा करने से जनपद में कोविड फैलने से रोका जा सकेगा और समय पर केस सामने आने से इलाज भी जल्द कराया जा सकेगा।

अफवाहों पर न दें ध्यान

उन्होंने कहा कि इस दौरान दिल्ली और नोएडा के बीच यातायात सामान्य ही रहेगा। यह फैसला समीपवर्ती क्षेत्रों में मामलों की वृद्धि के कारण लिया गया है। यात्रियों को किसी भी तरह की असुविधा के बिना ही आवागमन की अनुमति रहेगी और ट्रैफ़िक में रैंडम टेस्टिंग की कराई जाएगी। कुछ ही चयनित यात्रियों का परीक्षण किया जाएगा। सभी की जांच नहीं की जाएगी। इससे शहर में नियोक्ताओं और संगठनों को सलाह जारी करने में भी मदद मिलेगी। इस संबंध में लोग किसी अन्य संदेश या अफवाह पर ध्यान नहीं दें।

यह भी पढ़ें: CBI ने 50 बच्चों के कथित याैन शाेषण के आराेप में यूपी के एक जूनियर इंजीनियर काे गिरफ्तार

अस्पतालों के डायरेक्टरों संग होगी बैठक

सुहास एलवाई ने कहा कि बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि जनपद के सभी प्राइवेट व सरकारी कोविड-अस्पतालों के डायरेक्टरों संग बैठक कर उनसे भी सलाह ली जाएगी। साथ ही ऐसी रणनीति तैयार की जाएगी जिससे जिले में संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इसमें सभी की सलाह लेने के बाद उसे अमल में लाया जाएगा।



Advertisement