अयोध्या में मनेगा डिजिटल दीपोत्सव घर बैठे रामलला के दरबार में जलाए दीप

अयोध्या : राम नगरी अयोध्या में चौथे दीपोत्सव की तैयारी अंतिम चरण में है. इस वर्ष अयोध्या में हो रहे राम मंदिर निर्माण के बीच दीपोत्सव की भव्यता देने का प्रयास प्रदेश सरकार कर रही है हालांकि इस बार दीपोत्सव को पूरी तरह से वर्चुअल बनाने की तैयारियां की जा रही हैं, जिसका खाका तैयार करने में सरकार के आलाधिकारी जुट गए हैं। इस बार दीपोत्सव में आतिशबाजी की बजाय लेजर आतिशबाजी का आयोजन होगा, जो लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र होगा तो वहीं दूसरी ओर भक्तों के दीप जलाने के लिये डिजिटल इंतजाम किये जायेंगे ताकि भक्तों को घर बैठे अयोध्या में होने का अहसास हो सके।

राम नगरी अयोध्या में इस वर्ष कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए दीपोत्सव का आयोजन किया जा रहा है इस आयोजन में प्रदेश कि महामहिम राज्यपाल आनंदीबेन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाह कैबिनेट मंत्रियों के साथ अयोध्या के संत ही शामिल होंगे। जिसको लेकर तैयारी की जा रही है इस तैयारियों का जायजा लेने अयोध्या पहुंचे अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार व एडीजी जोन एसएन साबत ने राम की पैड़ी से लेकर रामकथा पार्क सहित अन्य स्थानों का बारीकी से निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

अयोध्या पहुंचे प्रदेश के अपर सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि पिछले वर्षों से हुए दीपोत्सव से भी भव्य इस वर्ष मनाए जाने की तैयारी को लेकर अयोध्या पहुंचे हैं। और सोशल डिस्टेंस के साथ कोविड-19 के नियमों के पालन हो । बताया कि इस वर्ष कुछ नया आयोजन किए जाने की तैयारी है। वही बताया कि ईश्वर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण भी चल रहा है ऐसे में अयोध्या की सुरक्षा अहम जिम्मेदारी है जिसके लिए व्यवस्था की गई है इन लोगों से भी अपील है की जिला प्रशासन के द्वारा किए गए नियमों से ही चले जिससे किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो । वही कहा कि इस वर्ष की दीपोत्सव में पिछले वर्ष की तरह सभी प्रकार के आयोजन किए जाएंगे राम कथा पार्क में भगवान राम माता सीता और लक्ष्मण के साथ पुष्पक विमान से पहुंचेंगे जहां उनका राज्याभिषेक भी किया जाएगा इस दौरान अयोध्या में हवाई माध्यम से पुष्प वर्षा का भी होगा।

वही अपर सचिव सूचना नवनीत सहगल ने भी बताया कि इस बार अयोध्या के इस डिजिटल दीपोत्सव को मनाया जा सकता है जिसके लिए देश विदेश से जुड़े लोग डिजिटल के माध्यम से राम मंदिर में दिया जला सकता है ऐसी व्यवस्था पहली बार की जा रही है और यह पूरा डिजिटल दीपावली होगी। और इस बार लेजर आतिशबाजी का शो होगा जो कि पहली बार या आयोजन किया जाना है



Advertisement