मुस्लिम महिलाओं ने मनाई दिवाली, भगवान राम की आरती कर दिया एकता का संदेश

वाराणसी. बाबा भोले की नगरी काशी जो कि अपने गंगा-जमुनी तहजीब के लिए जानी जाती है, यहां मुस्लिम महिलाओं ने भगवान श्रीराम की आरती उतारकर साम्प्रदायिक सौहार्द की मिशाल पेश की। लमही के इंद्रेश नगर के श्रीराम आश्रम में विशाल भारत संस्थान व मुस्लिम महिला फाउण्डेशन के संयुक्त तत्वावधान में दिवाली के अवसर पर मुस्लिम महिलाओं ने हिन्दू महिलाओं के साथ मिलकर भगवान श्रीराम, माता जानकी, लक्ष्मण और हनुमान जी की आरती कर एकता की मिसाल पेश की।

श्रीराम पूरी सृष्टि के मालिक

श्रीराम आश्रम के संस्थापक इन्द्रेश कुमार ने ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि जब धर्म के नाम पर लोगों में नफरत फैलाई जा रही थी, उस समय काशी में मुस्लिम महिलाएं प्रेम और सद्भावना का संदेश दे रही थीं। मुस्लिम महिला फाउण्डेशन की नेशनल सदर नाजनीन अंसारी ने प्रभु श्री राम को मालिक-ए-कायनात बताया। उन्होंने कहा, ''श्रीराम पूरी सृष्टि के मालिक हैं। भारत में रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति उनकी ही संतान है। राम सांस्कृतिक नायक हैं। राम नाम का प्रकाश ही दुनियां को नफरत के अंधकार से मुक्त करा सकता है।''

ये भी पढ़ें: न कोरोना का डर, न आदेश का असर, दिवाली पर आतिशबाजी से गंभीर श्रेणी में पहुंचा कई शहरों का एक्यूआई

ये भी पढ़ें: दिवाली के बाद वापसी और छठ के लिए चलेंगी 40 स्पेशल ट्रेनें, मिलेगा कंफर्म टिकट



Advertisement