फ्लैट में चल रही थी नकली नाेट बनाने की फैक्ट्री, नाेट छापने का तरीका देख पुलिस भी हैरान

पत्रिका न्यूज नेटवर्क,
मेरठ। थाना टीपीनगर पुलिस ने 1.97 लाख रुपये कीमत के नकली नाेटाें के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया युवक गाजियाबाद में नकली नाेट बना रहा था और इन नकली नोटों की खेप काे वेस्ट यूपी में उतारा जा रहा था। पुलिस ने माैके से प्रिंटर और अन्य सामान भी बरामद किया है।

यह भी पढ़ें: मेरठ में ट्रांसपोर्टर के बेटे का अपहरण कर मांगी गई 50 लाख की फिरौती

नकली नोटों काे बाजार में उतारने के लिए एक गिराेह काम कर रहा था पकड़े गए युवक की निशानदेही पर नोट छापने में काम आने वाला कलर प्रिंटर, कागज और बाकी सामान भी पुलिस ने बरामद किया है। इसी गिरोह के तीन सदस्यों को जून 2020 में भी खरखौदा पुलिस ने गिरफ्तार किया था। टीपीनगर थाना पुलिस पकड़े गए सभी नोट प्रिंटर पर प्रिंट करके बनाए गए है। सभी नाेटाे काे असली नाेटाें की गड्डी की तरह तैयारा करके रखा गया था। पूछताछ मे पता चला है कि यह गिरोह गाजियाबाद से काम कर रहा है। इसके बाद गाजियाबाद के एक फ्लैट पर पुलिस टीम ने दबिश दी। वहां से पुलिस ने एक प्रिंटर, 200 अधबने नोट, सफेद कागज और बाकी सामान बरामद किया है। पकड़े गए आराेपी की पहचान सुनील निवासी ककोड़ बुलंदशहर के रूप में हुई है।

यह भी पढ़ें: भीषण विस्फोट से दहले लोग, शादी की खुशियों की जगह मचा हाहाकार, पांच मासूम समेत आधा दर्जन घायल

आरोपी सुनील नकली नोट छापने वाले गिरोह का सरगना है। पूछताछ के बाद खुलासा हुआ कि इसी गिरोह के तीन सदस्यों को जून 2020 में खरखौदा में पकड़ लिया गया था। उस समय आरोपियों के पास से 2.60 लाख रुपये की नकदी बरामद हुई थी। कुछ समय गिरोह शांत रहा, लेकिन अब दोबारा सक्रिय हो गया था। इनके कब्जे से 100 रुपये और 200 रुपये के नोट मिले हैं।



Advertisement