बसपा एमएलसी महमूद अली समेत उनके परिवार के पांच शस्त्र लाइसेंस निरस्त

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

सहारनपुर। बसपा से एमएलसी महमूद अली और उनके बड़े भाई पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल समेत उनके परिवार के पांच सदस्यों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए गए हैं। जिलाधिकारी के शस्त्र निरस्तीकरण के आदेशों के विरुद्ध परिवार ने सहारनपुर कमिश्नर की अदालत में अपील की थी लेकिन इस अपील को सुनने के बाद कमिश्नर ने जिलाधिकारी के आदेशों को सही मानते हुए उनकी अपील को रद्द कर दिया है।

यह भी पढ़ें: मेरठ अपहरण कांड: ट्रांसपाेर्टर का बेटा 9.31 लाख रुपये कैश के साथ दिल्ली से सकुशल बरामद

जिन शस्त्र लाइसेंस को रद्द किया गया है उनमें बसपा एमएलसी महमूद अली समेत उनके बड़े भाई हाजी इकबाल और हाजी इकबाल की पत्नी फरीदा बेगम समेत उनके बेटे मोहम्मद जावेद के अलावा एमएलसी महमूद की पत्नी शमीम राणा के नाम पर शस्त्र लाइसेंस शामिल हैं। इन सभी शस्त्र लाइसेंस को सहारनपुर जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने 13 दिसंबर 2019 को निरस्त कर दिया था। निरस्तीकरण के इन आदेशों के खिलाफ परिवार ने कमिश्नर की अदालत में अपील की थी।

यह भी पढ़ें: मुस्लिम युवक से बहन के प्रेम-प्रसंग का किया विरोध तो कर दी हत्या, फेमस यू-ट्यूबर समेत तीन गिरफ्तार

प्रशासन के मंडलीय प्रवक्ता अवधेश कुमार के अनुसार कमिश्नर की अदालत ने अपील को सुनने के बाद जिलाधिकारी के आदेशों को जारी रखा है और सभी शस्त्र लाइसेंस काे निरस्त करने के आदेश दिए हैं। बसपा एमएलसी के परिवार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। हाल ही में जिलाधिकारी सहारनपुर ने एनजीटी के आदेशों के क्रम में उन पर जुर्माना लगाया था। जुर्माना लगाते हुए संबंधित उप जिला अधिकारी को आदेश दिए गए थे कि इस पूरे जुर्माने को वसूल किया जाए इस जुर्माने की राशि भी लाखों रुपए में है।



Advertisement