अगर आप भी लोन लेने के लिए कर रहे हैं एप्लाई तो हो जाएं सावधान!

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। थाना सेक्टर-58 पुलिस ने लोन दिलाने के नाम पर लोगों के साथ ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरोह का मास्टर माइंड और उसकी महिला मित्र अभी फरार हैं। पुलिस के मुताबिक ये लोग सेक्टर 62 स्थित एक बिल्डिंग में कॉल सेंटर चला रहे थे। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 21 मोबाइल, एक लैपटॉप, 11 डेस्कटॉप और तीन हजार रुपये नगद बरामद किए हैं।

यह भी पढ़ें : Diwali पर अपने बच्चे से मिलने और उसे Gifts देने लिए भूख हड़ताल पर बैठा पिता, जानिये पूरा मामला

दरअसल, पुलिस की गिरफ्त में आए शकूरपुर दिल्ली निवासी शक्ति कुमार और प्रताप विहार गाजियाबाद निवासी अंकित कुमार उस गैंग के सदस्य हैं, जो लोगों को लोन दिलाने के नाम उनके साथ ठगी कर रहे थे। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि आरोपियों ने माई इंडिया मनी डॉट कॉम के नाम से एक फर्जी वेबसाइट बनाई हुई है। इसी वेबसाइट के जरिए आरोपी साउथ इंडिया और सेंट्रल इंडिया के लोगों को अपना शिकार बनाते थे। ये लोग पहले लोगों को 2 लाख से 10 लाख रुपये तक का लोन दिलाने का झांसा देते थे। फिर लोगों से फाइल चार्ज आदि के नाम पर मोटी रकम लेकर गायब हो जाते थे।

यह भी पढ़ें: कांस्टेबल ने बच्चों के सामने गरीब दुकानदार काे खसीटा, पिता काे छुड़ाने के लिए पुलिस की गाड़ी से सिर पटकती रही बच्ची

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि एक शिकायत के आधार पर सेक्टर-62 आईथम टावर में स्थित इनके दफ़तर पर छापा मार के आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी यहीं से बैठकर लोन दिलाने के नाम पर लोगों के साथ ठगी कर रहे थे। गिरोह का सरगना चन्दन और उसकी एक महिला मित्र प्रियंका है जो अभी फरार हैं।



Advertisement