पेंशन भोगियों की खुशखबरी - घर बैठे दे सकते हैं जीवित होने का प्रमाण पत्र

उन्नाव. जनपद के पेंशन भोगियों को अपने जीवित होने का प्रमाण पत्र देने के लिए कोषागार के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे और ना ही वहां के बाबुओं की जी हुजूरी करनी पड़ेगी। एक ऐप के माध्यम से पेंशनर अपने जीवित होने का प्रमाण पत्र दे सकते हैं। इसके लिए ऐप को लांच किया गया है। जिसमें डाक कर्मियों का सहयोग लेना पड़ेगा। इस संबंध में जनपद के डाक कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

डाक कर्मी करेंगे सहयोग

इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक के मास्टर ट्रेनर दिनेश सिंह ने क्षेत्रीय डाक कर्मियों को इस संबंध में प्रशिक्षण दिया और उसके ऊपर योग के विषय में जानकारी दें। शासन के निर्देश पर लांच किए गए ऐप में क्षेत्रीय डाक कर्मियों की भूमिका पेंशनर के मामले में बढ़ जाती है। डाक कर्मी पेंशनर के घर में जाकर ऑनलाइन अंगूठा लगवाएंगे। जिससे उन्हें जीवित होने के प्रमाण पत्र देने के लिए कोषागार तक नहीं जाना पड़ेगा मौके के पर डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बुजुर्गों को देंगे।



Advertisement