'पहला कदम' और 'पहली उड़ान' में खुलवाए नाबालिग बच्चों का बैंक अकाउंट, डेबिट कार्ड के साथ मिलेंगे यह सुविधाएं

लखनऊ. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में नाबालिग बच्चों का बैंक अकाउंट खुलवाना चाहते हैं, तो 'पहला कदम' 'पहली उड़ान' में अकाउंट खुलवा सकते हैं। इन खातों को योनो ऐप/वेबसाइट से ऑनलाइन या फिर बैंक ब्रांच में जाकर ऑफलाइन खुलवा सकते हैं। पहला कदम अकाउंट किसी भी उम्र के बच्चे के लिए खुलवाया जा सकता है। वहीं पहली उड़ान 10 साल से ज्‍यादा उम्र के बच्‍चे के लिए एकल आधार पर खोला जाता है। पहला कदम अकाउंट को माता-पिता/अभिभावक के साथ संयुक्त रूप से व माता-पिता/अभिभावक द्वारा एकल रूप से ऑपरेट किया जा सकता है। वहीं पहली उड़ान अकाउंट को एकल रूप से ऑपरेट किया जा सकता है।

जानें दोनों खातों के फीचर्स

  • - खातों को खाता संख्या बदले बिना एसबीआई की किसी भी शाखा में ट्रान्सफर किया जा सकता है।
  • - दोनों अकाउंट में मैक्सिमम बैलेंस लिमिट 10 लाख रुपये है।
  • - दोनों अकाउंट में चेकबुक की भी सुविधा है। विशेष रूप से डिजाइन की गई वैयक्तिकृत चेकबुक (10 चेक के साथ), नाबालिग के नाम से अभिभावक को जारी की जाएगी।
  • - एटीएम कार्ड से विड्रॉल लिमिट पांच हजार रुपये है।
  • - 20,000 रुपये से ज्‍यादा के बैलेंस पर ऑटो स्‍वीप इन की सुविधा है।
  • - ट्रान्सफर ट्रांजेक्शंस के लिए इंटर कोर चार्ज शून्य है।

ये भी पढ़ें: भाजपा ने मुझे पार्टी में शामिल होने का दिया था ऑफर : शिवपाल सिंह यादव

ये भी पढ़ें: लव जिहाद पर सख्त कानून बनाने की तैयारी, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की मांग-लव जेहादियों को बीच चौराहे मिले फांसी



Advertisement