सपा को मुस्लिम बाहुल्य सीट से हराकर पहली महिला विधायक बनीं संगीता चौहान, बोलीं- पूरे करूंगी पति के वादे

अमरोहा. यूपी विधानसभा उपचुनाव में भाजपा ने सात में से छह सीट जीतकर एक बार फिर विपक्षियों को सोचने पर मजबूर कर दिया है। वहीं, अमरोहा जिले की नौगांवा सादात सीट से दिवंगत चेतन चौहान की पत्नी संगीता चौहान ने 15077 वोटों से जीतकर पति की राजनीतिक विरासत की जिम्मेदारी संभाल ली है। संगीता चौहान को कुल 86692 मत मिले, जबकि सपा प्रत्याशी जावेद आब्दी को 71615 मत प्राप्त हो सके। बता दें कि यह पहली बार है जब नौगांवा सादात सीट से कोई महिला विधायक बनीं हैं।

यह भी पढ़ें- UP Bypolls Result: देखें सभी प्रत्याशियों का Report Card, जानें किसे मिले कितने वोट, कहां रहा जीत का बड़ा अंतर

उल्लेखनीय है कि पूर्व क्रिकेटर और योगी सरकार में होमगार्ड कल्याण एवं नागरिक सुरक्षा विभाग मंत्री रहे चेतन चौहान का कोरोना संक्रमण के चलते 16 अगस्त को निधन हो गया था। इसके बाद नौगांवा सादात सीट पर हुए चुनाव में उनकी पत्नी संगीता चौहान को भारी बहुमत से विजय प्राप्त हुई है। उपचुनाव जीतने के बाद संगीता चौहान ने कहा कि उनके पति अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन वह हमेशा उनके साथ हैं। संगीता ने समर्थन करने और चुनाव जिताने में मदद करने के लिए जनता को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वह क्षेत्र के विकास के लिए कार्य करेंगी और अपने पति के किए हुए वादों को पूरा करेंगी।

जीत के समीकरण

बता दें कि उपचुनाव के प्रचार के दौरान भाजपा प्रत्याशी संगीता चौहान और सपा प्रत्याशी जावेद आब्दी के बीच कांटे की टक्कर थी। दोनों ही प्रत्याशियों की जीत के दावे राजनीतिक विशलेषकों द्वारा किए जा रहे थे। चेतन चौहान के निधन के बाद संगीता चौहान के लिए लोगों की संवेदना चरम पर थी। वहीं, मुस्लिम बाहुल्य और पिछड़ी जातियों के चलते सपा प्रत्याशी जावेद आब्दी की जीत के दावे ज्यादा किए जा रहे थे, लेकिन जनता ने जीत का ताज संगीता चौहान को पहनाया।

चेतन चौहान की राजनीतिक सलाहकार भी रहीं

सियासत में आने से पहले संगीता चौहान बैंकर, हाईकोर्ट में अधिवक्ता और अपने दिवंगत पति चेतन चौहान की राजनीतिक सलाहकार हुआ करती थीं। संगीता चौहान ने 29 साल तक बैंकिंग सेक्टर में काम किया है। इसके अलावा वह भाजपा के संगठनों के कार्य भी चेतन चौहान के साथ किया करती थीं।

यह भी पढ़ें- बिहार में भाजपा की जीत पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने नोएडा में मनाया जश्न, बताई जीत की वजह



Advertisement